एसएससी में हुई गड़बड़ी के मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला - Ssc paper leak rahul gandhi questions on modi government

नई दिल्लीः स्टाफ सलेक्शन कमीशन (एसएससी) में हुई गड़बड़ी के मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है. राहुल गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए शायराना अंदाज में लिखा है कि 2014 के लोकसभा चुनावों में हर साल युवाओं को 2 करोड़ रोजगार देने की बात कहना बीजेपी का जुमला था.  उन्होंने कहा कि सरकार रोजगार तो दे नहीं पाई, ऊपर से नौकरियों को खत्म कर दिया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में पीएम मोदी को निशाने पर लेते हुए कहा, "सरकार के नाक नीचे SSC महाघोटाला हुआ. साहेब बताएं कि इसपर पर्दा क्यों डाला?"

राहुल गांधी ने अपने हमले में मध्य प्रदेश के व्यापमं घोटाले का भी जिक्र किया और कहा कि मोदी सरकार ने व्यापमं जैसे घोटाले का राष्ट्रीयकरण किया है. राहुल गांधी ने सवाल किया कि मोदी सरकार में क्या नौकरियों पर सिर्फ पैसे वालों का अधिकार है?


आपको बता दें कि सीबीआई ने इस साल 21 फरवरी को आयोजित कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में हुई कथित अनियमितता के मामले में एक प्रारंभिक जांच दर्ज की है. सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि आरोपों की पड़ताल के बाद मामले की प्रारंभिक जांच शुरू करने का फैसला लिया गया है. गौरतलब है कि सीबीआई जांच शुरू करने के लिए एक प्रारंभिक जांच पहला कदम है, जिसके तहत जांच एजेंसी इस बात का आकलन करती है कि प्राथमिकी दर्ज करने के लिएक्या आरोपों में प्रथम दृष्टया पर्याप्त सामग्री हैं.

दरअसल, छात्र 27 फरवरी से दिल्ली में सीजीओ कॉम्पलेक्स स्थित एसएससी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं। वे‘ कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल’ ( सीजीएल) परीक्षा में कथित पेपर लीक की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं. कर्मचारी चयन आयोग( एसएससी) ने 21 फरवरी को हुई परीक्षा में कथित पेपर लीक की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी. एसएससी के अध्यक्ष अशीम खुराना ने एक बयान में कहा कि कथित पेपर लीक पर प्रदर्शनकारी उम्मीदवारों के एक प्रतिनिधिमंडल ने इस मुद्दे पर उनसे मुलाकात की थी.

छात्रों ने इस साल 17 से 22 फरवरी के बीच हुई सीजीएल( टियर2) परीक्षा2017 के प्रश्न पत्र के कथित लीक की सीबीआई जांच की मांग की। कार्मिक राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह ने कहा था कि सीजीएल परीक्षा 2017 के लिए देश भर से 30 लाख से अधिक उम्मीदवारों ने आवेदन किया था. इसके तहत 8000 रिक्तियों को भरा जाना है. उन्होंने बताया कि इनमें से करीब डेढ़ लाख छात्रों को टियर 1 परीक्षा के बाद चुना गया.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment