ब्रिटेन ने औपचारिक रूप से आईएसए में शामिल होने की घोषणा की - britain joined the international solar coalition

लंदन: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चार दिवसीय ब्रिटेन दौरे से पहले ब्रिटेन आज भारत की अगुवाई वाले अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) में शामिल हो गया. कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ गवर्नमेंट मीटिंग 2018 ( चोगम) के तहत लंदन स्टॉक एक्सेंज में आयोजित एक समारोह में ब्रिटेन ने औपचारिक रूप से गठबंधन की सदस्यता की घोषणा की, जिसका उद्देश्य 2030 तक सभी के लिए सस्ती और टिकाऊ ऊर्जा मुहैया कराने के लिहाज से निजी और सार्वजनिक वित्त में एक ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की राशि जुटाना है.


ब्रिटेन की साझेदारी में गठबंधन को विशेषज्ञ और सलाह मिलेगी. हालांकि इसमें कोई मौद्रिक योगदान नहीं होगा. इससे पहले स्वीडन और ब्रिटेन की अपनी यात्रा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वह व्यापार, निवेश और स्वच्छ ऊर्जा समेत विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय साझेदारी गहरा बनाने को लेकर आशान्वित हैं. प्रधानमंत्री मोदी सोमवार को स्वीडन और ब्रिटेन की पांच दिवसीय यात्रा के लिए रवाना हुए थे. वह स्वदेश वापसी के दौरान 20 अप्रैल को बर्लिन में कुछ देर के लिए ठहरेंगे.



अपनी यात्रा के पहले चरण में मोदी स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम पहुंचेंगे, जहां वह प्रधानमंत्री स्टेफान लोफवेन से व्यापक वार्ता करेंगे तथा भारत नोर्डिक सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. मोदी ने फेसबुक पर लिखा, ‘‘ भारत और स्वीडन के बीच दोस्ताना रिश्ता है. हमारी साझेदारी लोकतांत्रिक मूल्यों तथा खुले, समावेशी एवं नियमों की बुनियाद पर टिकी वैश्विक व्यवस्था के प्रति कटिबद्धता पर आधारित है. स्वीडन हमारे विकास पहलों में एक मूल्यवान साझेदार है.’’
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment