मक्का मस्जिद मामले मेंएनआईए के वकील एन हरिनाथ की योग्यता पर उठे सवाल - mecca masjid blast case questions raised about nia prosecutor

नई दिल्ली: मक्का मस्जिद धमाके के मामले में अब एनआईए के वकील एन हरिनाथ की योग्यता पर सवाल उठ रहे हैं. बताया जा रहा है कि 2015 में जब उन्हें स्पेशल पब्लिक प्रोसिक्यूटर बनाया गया तब उन्हें आपराधिक मामलों का कोई अनुभव नहीं था. साथ ही ये तथ्य भी सामने आ रहा है कि NIA के वकील एन हरिनाथ कभी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से भी जुड़े थे. वहीं एन हरिनाथ का कहना है, वो ईडी के स्टैंडिंग काउंसेल भी रहे हैं.



वहीं एनआईए मामलों के विशेष न्यायाधीश की सुरक्षा बढ़ा दी गई है जिन्होंने मक्का मस्जिद विस्फोट मामले में दक्षिणपंथ कार्यकर्ता स्वामी असीमानंद सहित पांच लोगों को बरी कर दिया था.


एनआईए मामलों के विशेष न्यायाधीश और चतुर्थ अतिरिक्त मेट्रोपोलिटन सत्र न्यायाधीश के . रवींद्र रेड्डी ने ‘व्यक्तिगत कारणों’ का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया था. 2007 के मामले में फैसले देने के कुछ ही घंटे बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया था. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘फैसले के परिप्रेक्ष्य में उनके आवास पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.’


उन्होंने कहा कि कुछ समय तक उनकी सुरक्षा बढ़ी रहेगी.  अधिकारी ने कहा, ‘... कोई विशिष्ट अलर्ट नहीं है लेकिन फैसले के बाद से ही उनके घर के आसपास सुरक्षा बढ़ी हुई है.’ अधिकारी ने यह नहीं बताया कि उनकी सुरक्षा में कितने पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है. 
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment