भारत जानना चाहता है कि उसकी बेटियों को कब न्याय मिलेगा: राहुल गांधी - rahul gandhi tweeted on pm modi assurance justice for daughters

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि भारत जानना चाहता है कि उसकी बेटियों को कब न्याय मिलेगा. उन्होंने कठुआ और उन्नाव मामलों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिये गये बयान को लेकर शुक्रिया भी बोला. राहुल ने ट्वीट किया, ‘‘ प्रिय प्रधानमंत्री जी. आपकी लंबी चुप्पी तोड़ने के लिए शुक्रिया. आपने कहा कि हमारी बेटियों को न्याय मिलेगा. भारत जानना चाहता है कि कब?’’ आज प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली में एक समारोह में कहा था कि वह देश को भरोसा दिलाना चाहते हैं कि किसी अपराधी को नहीं छोड़ा जाएगा.



इससे पहले आज भाजपा पर कठुआ और उन्नाव में हुई बलात्कार की घटनाओं को ‘धर्म के चश्मे ’ से देखने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा कि कठुआ और उन्नाव के मामलों को ‘सामान्य मामले’ नहीं कहा जा सकता है और इन मामलों ने राष्ट्र को शर्मिंदा किया है. पार्टी ने कहा कि भाजपा समानता और गरिमा के लिए महिलाओं की लड़ाई को हल्के में नहीं ले सकती.


सिंघवी ने कठुआ मामले के आरोपियों के समर्थन में हुई रैली में शामिल हुए जम्मू-कश्मीर के दो मंत्रियों का बचाव करने के लिए भाजपा की प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी के बयान को लेकर उनकी आलोचना की और कहा कि लेखी ने उन्नाव और कठुआ मामलों को ‘धर्म के चश्मे’ से देखा. कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ मैं उस पार्टी की कड़ी निंदा करता हूं जो बलात्कार को धर्म और वर्ग के आधार पर देखती है. बलात्कार को धर्म के चश्मे से देखने वाले व्यक्ति, पार्टी और सरकार की आलोचना होनी चाहिए.’’


उन्होंने उन्नाव की घटना को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हटाने की मांग की. कांग्रेस ने ट्विटर पर कहा, ‘‘ भाजपा की सांसद मीनाक्षी लेखी की संवेदनहीन टिप्पणी अपने अधिकारों के लिए खड़े होने वाले भारतीय नागरिकों का अपमान है. उनका बयान उनकी पार्टी की प्रतिगामी विचारधारा का द्योतक है. उनको अपने शब्द वापस लेने चाहिए और माफी मांगनी चाहिए.’’

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment