ट्रंप के साथ समझौते पर हस्ताक्षर कर बोले किम- दुनिया बड़ा बदलाव देखेगी- america-donald-trump-north-korea-kim

डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग के बीच दो दौर की बातचीत के बाद दोनों साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में नजर आए. जहां दोनों ने समझौते पर हस्ताक्षर किए. किम के साथ मुलाकात को ट्रंप ने ऐतिहासिक करार दिया है. जबकि किम ने कहा कि दुनिया आने वाले दिनों में बड़ा बदलाव देखेगी. सिंगापुर समिट में दोनों के बीच मुलाकात एक तरह से सफल रही है. संयुक्त बयान जारी करने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने किम जोंग को व्हाइट हाउस आने का न्योता दिया. ट्रंप ने कहा कि किम बेहद क्षमतावान व्यक्ति हैं, इस मुलाकात के बाद हमारे बीच एक खास रिश्ता बना है. ट्रंप से मुलाकात के बाद किम ने कहा कि हमने बीती बातों को पीछे छोड़ने का फैसला किया है. दूसरे दौर की बातचीत भी सफल दोनों नेताओं के बीच समझौते से पहले दो दौर की बातचीत हुई. दोनों राष्ट्राध्यक्षों ने लंच भी साथ में किए. दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल की बातचीत के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि किम जोंग से उनकी बैठक उम्मीद से बेहतर हुई है. इसके अलावा दोनों नेता बैठक के बाद रिजॉर्ट के अंदर टहलते हुए भी दिखाई दिए. 41 मिनट चली पहली मुलाकात सेंटोसा द्वीप के कैपेला रिजॉर्ट में दोनों नेताओं के बीच 41 मिनट तक वन-ऑन-वन मुलाकात हुई. ये मुलाकात कई मायनों में ऐतिहासिक है. अमेरिका का कोई सिटिंग राष्ट्रपति पहली बार किसी उत्तर कोरियाई नेता से मिला है. वहीं, सत्ता संभालने के 7 साल बाद किम जोंग उन पहली बार इतनी लंबी विदेश यात्रा पर आए हैं. भारतीय समयानुसार सुबह करीब 6.30 बजे दोनों नेता अपने-अपने होटल से सेंटोसा द्वीप पहुंचे थे. होटल पहुंचने के बाद दोनों नेताओं ने एक दूसरे से हाथ मिलाया और फोटो खिंचवाए. इसके बाद दोनों नेता रिजॉर्ट के अंदर गए. अंदर जाते वक्त दोनों हंसते हुए नजर आए. अंदर जाकर डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग उन ने एक दूसरे से बात की. ट्रंप और किम ने क्या कहा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किस के साथ बैठकर उम्मीद जताई कि यह शिखर वार्ता 'जबरदस्त सफलता' वाली होगी. उत्तर कोरियाई नेता के बगल में बैठकर ट्रंप ने कहा, 'आगे हमारे रिश्ते बेहद शानदार होंगे. वास्तव में बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं, हम बेहद अच्छी चर्चा करने वाले हैं और हमारे रिश्ते शानदार होंगे, इसमें मुझे कोई संदेह नहीं है.' उत्तर कोरियाई तानाशाह ने कहा कि सिंगापुर में आज हो रही बैठक की राह में कई 'रोड़े' थे. उन्होंने बताया, 'हमने उन बाधाओं को पार किया और आज हम यहां हैं.' माना जा रहा है कि मौजूदा अमेरिकी राष्ट्रपति और एक उत्तर कोरियाई नेता के बीच हो रही यह पहली शिखर वार्ता ट्रंप और किम के बीच कभी बेहद तल्ख रहे रिश्तों को भी बदलने वाली साबित होगी. मुलाकात से पहले अमेरिका ने परमाणु निरस्त्रीकरण के बदले उत्तर कोरिया को 'विशिष्ट' सुरक्षा गारंटी की पेशकश की थी.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment