बारिश-बाढ़ से बेहाल देश के कई राज्य, इस मॉनसून में 7 राज्यों में 774 की मौत- heavy-rain-alert-in-several-states

नई दिल्ली :भारी बारिश और बाढ़ से देश के कई राज्य जूझ रहे हैं। केरल के बाद अब पहाड़ी राज्यों हिमाचल और उत्तराखंड में हालात बेकाबू हैं। गृह मंत्रालय के मुताबिक मॉनसून के इस मौसम में सात राज्यों में बाढ़ और बारिश से जुड़ी घटनाओं में अब तक 774 लोगों की मौत हो गई है। मौसम विभाग ने यूपी, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, असम, नगालैंड और अरुणाचल प्रदेश समेत 16 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इस बीच बारिश से अमरनाथ यात्रा भी रोक दी गई है। गृह मंत्रालय के नेशनल इमर्जेंसी रिस्पॉन्स सेंटर (एनईआरसी) के मुताबिक बाढ़ और बारिश के कारण केरल में 187, उत्तर प्रदेश में 171, पश्चिम बंगाल में 170 और महाराष्ट्र में 139 लोगों की जान गई है। आंकड़ों में कहा गया है कि गुजरात में 52, असम में 45 और नगालैंड में आठ लोगों की मौत हुई है। केरल में 22 और पश्चिम बंगाल में पांच लोग लापता भी हैं। राज्यों में बारिश से जुड़ी घटनाओं में 245 लोग जख्मी हुए हैं। बारिश और बाढ़ की विभीषिका से महाराष्ट्र के 26, असम के 23, पश्चिम बंगाल के 22, केरल के 14, उत्तर प्रदेश के 12, नगालैंड के 11 और गुजरात के 10 जिले सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। असम में एनडीआरएफ की 15, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में आठ-आठ, गुजरात में सात, केरल में 4, महाराष्ट्र में चार और नगालैंड में एक टीम को तैनात किया गया है। केरल में 8,000 करोड़ से ज्यादा नुकसान केरल में बाढ़ के हालात में आंशिक सुधार के बावजूद रविवार को हुई बारिश से मुश्किल बरकरार है। बाढ़ की वजह से राज्य में मृतकों की तादाद अब 39 पहुंच गई है। रविवार को इदुक्की में 20.86 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। वहीं, बाढ़ की वजह से राज्य में 8 हजार करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है। रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद कहा कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में केरल में इस तरह की बाढ़ कभी नहीं आई है। सीएम पी. विजयन का कहना है कि 8316 करोड़ की संपत्ति का नुकसान हुआ है, जबकि 10 हजार किमी से ज्यादा सड़कें बर्बाद हो गई हैं। रविवार को तेज बारिश शुरू होने के बाद निचले इलाके में रहने वाले लोगों को फिर ऊपरी इलाकों में आने को कहा गया है। वायनाड में एक घर गिरने से 58 साल की महिला की मौत हो गई। वहीं, छह लोग लापता बताए जा रहे हैं। वायनाड के कलेक्टर एपी अजय कुमार ने सोमवार को सभी स्कूल कॉलेजों में छुट्टी की घोषणा की है। पोथुंडी डैम के सभी तीन गेट खोल दिए गए हैं। इसके साथ ही जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर होने के बाद चुल्लियार, वालायार और मीनकारा जलाशयों के गेट खोलने की अंतिम चेतावनी जारी की गई है। वहीं, इदुक्की जलाशय का जलस्तर लगातार दूसरे दिन घटा है। शनिवार को 2400.68 फीट से घटकर रविवार को इसका जलस्तर 2398.68 फीट पहुंच गया।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment