इमरान सरकार में भी वही कश्मीर राग, वही परमाणु बम की धमकी, कैसे भरोसा करेगा भारत?- pakistan-new-government-imran-khan

पाकिस्तान में सत्ता परिवर्तन के साथ उसकी नीयत में भी बदलाव की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन भारत को लेकर इमरान खान की सरकार भी पुराने ढर्रे पर नजर आ रही है. अभी इमरान खान को पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बने दो दिन भी नहीं बीते कि उनकी सरकार ने भारत को तेवर दिखाने शुरू कर दिए. सोमवार को 21 सदस्यों वाली इमरान खान कैबिनेट के 16 मंत्रियों ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली. विदेश मंत्री की जिम्मेदारी शाह महमूद कुरैशी को दी गई. पदभार ग्रहण करते ही शाह महमूद ने भारत के खिलाफ न सिर्फ दुष्प्रचार किया, बल्कि वो परमाणु बम तक पहुंच गए. उन्होंने कश्मीर का राग अलापते हुए इशारों-इशारों में ये भी कह दिया कि कुछ ताकतें पाकिस्तान को बांटने में लगी हुई हैं. शाह महमूद का यह बयान ठीक वैसा ही है, जो अतीत में पाकिस्तानी हुक्मरान देते रहे हैं. पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक, शाह महमूद ने अपने संबोधन में कहा, 'मैं भारत के विदेश मंत्री को बताना चाहता हूं कि हम सिर्फ पड़ोसी नहीं हैं, बल्कि परमाणु शक्तियां भी हैं. हम दोनों के पास बहुत सारी समान चीजें हैं.' शाह महमूद ने भारत के साथ बातचीत और दोनों मुल्कों के बीच शांति की बात तो कही लेकिन साथ ही अपने पास परमाणु बम होने की गीदड़भभकी भी दी. उन्होंने कहा, 'शांति से बातचीत करना ही इकलौता विकल्प है. भारत को दुस्साहस छोड़ना होगा और आगे साथ आना होगा. हम जानते हैं कि मसले काफी मुश्किल हैं और तुरंत इनका समाधान नहीं हो सकता, लेकिन हमें आगे
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment