नेपाल में बाढ़-भूस्खलन का कहर, 43 लोगों की मौत- Loktantra Ki Buniyad

नेपाल में मूसलाधार बारिश की वजह से आई बाढ़ और उसकी वजह से हुए भूस्खलन का कहर जारी है. यहां बाढ़ और भूस्खलन की वजह से 43 लोगों की मौत हो गई है जबकि 24 लोग लापता हैं. साथ ही 20 लोग घायल बताए गए जबकि 50 से ज्यादा लोगों को बचाया गया है. बाढ़ से नेपाल के ज्यादातर इलाके जलमग्न हो गए हैं. बचाव टीमें प्रभावित इलाकों में राहत कार्यों, खोज और बचाव कार्यों में लगी हुई हैं. नेपाल में बीते कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है जिसके चलते यहां के कई इलाकों में बाढ़ आ गई. पानी के तेज बहाव के कारण ज्यादातर इलाकों में भूस्खलन भी हुआ. बाढ़ से अतिसंवेदनशील इलाकों से लोगों को विस्थापित कर सुरक्षित इलाकों पर भेजा गया है. यातायात बुरी तरह से प्रभावित है, सभी प्रमुख राजमार्गों पर लोगों की आवाजाही बाधित है. नेपाल पुलिस ने अपने समाचार बुलेटिन में कहा कि बारिश से होने वाली आपदाओं ने पूरे देश में तबाही मचाई है. नेपाल आपातकालीन कार्यसंचालन केंद्र के प्रमुख बेद निधि खानल ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि देशभर में 200 से अधिक स्थानों की पहचान मानसून संबंधित आपदाओं के लिए अतिसंवेदनशील क्षेत्र के रूप में की गई है. बचाव दल, राहत कार्यों, खोज और बचाव कार्यों का संचालन कर रहे हैं.राजधानी काठमांडू के भी कुछ हिस्से बाढ़ के पानी में जलमग्न हो गए हैं. मृतकों में तीन सदस्य एक ही परिवार के थे. काठमांडू स्थित उनके घर की दीवार ढहने से तीनों उसकी चपेट में आ गए थे. वहीं तीन अन्य लोग पूर्व के खोतांग जिले में एक भूस्खलन में मारे गए.वहीं, प्रधानमंत्री खडग प्रसाद शर्मा ओली ने बाढ़ और भूस्खलनों में मारे गए लोगों के शोक संतप्त परिवारों के प्रति सांत्वना जताते हुए ट्वीट किया, ‘आपदा में मारे गए लोगों के परिवारों के साथ मेरी गहरी संवेदना है.’
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment