अलीगढ़: गीता पढ़ने पर मुस्लिम युवक को पीटा, छीन ले गए धार्मिक किताबें

आगरा : अलीगढ़ के शाहजमल क्षेत्र में हिंदुओं की धार्मिक पुस्तक 'भगवद गीता' पढ़ने पर 55 साल के मुस्लिम युवक की पिटाई का मामला सामने आया है। आरोप है कि युवक अपने घर में गीता पढ़ रहा था, जिसे लेकर उसके ही समुदाय के दो युवकों ने उसके साथ मारपीट की। इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस के मुताबिक,एक फैक्ट्री में सिक्यॉरिटी गार्ड का काम करने वाला दिलशेर गुरुवार सुबह 9 बजे अपने काम से लौटने के बाद घर पर बैठकर गीता पढ़ रहा था। आरोप है कि समीर, जाकिर और कुछ और युवकों ने घर में घुसकर इसके लिए उसके मारा-पीटा और हिंदू धर्म की पुस्तकें, गीता और रामायण छीनकर ले गए। पीड़ित युवक ने कहा कि वह पिछले 38 साल से ये धार्मिक पुस्तकें पढ़ रहा है। दिलशेर ने कहा, 'मैं मुस्लिम हूं लेकिन मेरा मजहब मुझे दूसरे धर्मों की कोई और पाक किताब को पढ़ने से नहीं रोकता।' एसपी सिटी अभिषेक ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और आरोपियों के खिलाफ जरूरी कार्रवाई जल्द से जल्द की जाएगी। दिल्ली गेट पुलिस स्टेशन में आरोपी समीर, जाकिर समेत अज्ञात युवकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 298 (धार्मिक भावनाएं आहत करना), 323 (मार-पीट और चोट पहुंचाना), 452 (गलत इरादों से घर में घुसपैठ), 504 (शांतिभंग की कोशिश) और 506 (आपराधिक कृत्य) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment