विजय माल्या ने लगाई सुप्रीम कोर्ट से गुहार, संपत्ति जब्त करने की प्रक्रिया पर रोक की मांग- Loktantra Ki Buniyad

नई दिल्ली: भारतीय बैंकों से 9 हजार करोड़ रुपये लेकर फरार शराब कारोबारी विजय माल्या ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल की है। विजय माल्या ने सुप्रीम कोर्ट से अपनी और रिश्तेदारों की सभी संपत्ति की कुर्की करने की प्रक्रिया पर रोक लगाने की मांग की है। मामले पर सुनवाई सोमवार को 29 जुलाई को होगी। इससे पहले बॉम्बे हाई कोर्ट ने माल्या की इस अपील को खारिज कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपनी अपील में विजय माल्या ने कहा है कि वह सिर्फ किंगफिशर एयरलाइंस से संबंधित संपत्ति की ही कुर्की चाहते हैं और उनकी निजी और पारिवारिक संपत्ति को जब्त न किया जाए। इससे पहले 11 जुलाई को बॉम्बे हाई कोर्ट ने संपत्ति की कुर्की के खिलाफ कार्रवाई पर रोक को लेकर माल्या की अपील को खारिज कर दिया था। याचिका में माल्या ने सरकारी जांच एजेंसी की तरफ से उनकी संपत्ति की कुर्की की कार्रवाई की प्रक्रिया में रोक लगाने को कहा था। पीएमएलए अदालत ने किया था भगोड़ा घोषित बता दें कि इसी साल 5 जनवरी को विशेष पीएमएलए अदालत ने माल्या को भगोड़ आर्थिक अपराधी घोषित किया था। उसके बाद अदालत ने माल्या की संपत्तियों को कुर्क करने की प्रक्रिया शुरू की थी। माल्या ने इस आदेश के खिलाफ हाई कोर्ट में अपील करते हुए भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून की वैधता को चुनौती दी थी। फिलहाल यह मामला अभी कोर्ट में लंबित है। प्रत्यर्पण के मामले में कोर्ट के चक्कर काट रहे माल्या माल्या इस समय ब्रिटेन में प्रत्यर्पण की कार्यवाही का सामना कर रहे हैं। उन्होंने भारतीय बैंकों से 9 हजार करोड़ रुपये का कर्ज लिया था जिसे न चुका पाने पर मार्च 2016 को देश दिया था। भारत ने 2017 में प्रत्यर्पण की मांग की थी और फिलहाल वह जमानत पर बाहर है। माल्या ने ब्रिटेन के हाई कोर्ट में प्रत्यर्पण आदेश के खिलाफ भी अर्जी दाखिल की है जिस पर अगले साल 11 फरवरी से तीन दिन के लिए सुनवाई होगी।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment