प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिवंगत मित्र अरुण जेटली के घर जाकर दी श्रद्धांजलि- Loktantra Ki Buniyad

नई दिल्ली:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवंगत मित्र अरुण जेटली के घर पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने जेटली की तस्वीर पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए और परिवार को सांत्वना दी। उनसे पहले गृह मंत्री अमित शाह जेटली के घर पहुंच चुके थे। पीएम ने जेटली के कैलाश कॉलोनी स्थित आवास पहुंचकर उनकी पत्नी संगीता जेटली, पुत्री सोनाली जेटली और बेटे रोहन जेटली से बात की। वह पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन के वक्त विदेश में थे। तब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उनकी ओर से जेटली को श्रद्धांजलि दी थी। तब पीएम ने बहरीन से जेटली के परिवार से बात की थी। जेटली के बेटे रोहन ने भी पीएम मोदी से कहा था वह दौरा छोड़कर न आएं क्योंकि वह देश का काम कर रहे हैं। बहरीन में मोदी ने व्यक्त की थी पीड़ा मोदी ने बहरीन में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए जेटली के निधन से उपजी पीड़ा का बयान किया था। उन्होंने कहा था, मैं भले ही यहां आप लोगों से बात कर रहा हूं और देश में जन्माष्टमी का उत्सव है, लेकिन मैं मन में गहरा शोक दबाए बैठा हूं।' पीएम मोदी ने बेहद भावुक लहजे में कहा था, 'जिस दोस्त के साथ सार्वजनिक जीवन और राजनीतिक यात्रा पर कदम से कदम मिलाकर चले। हर पल एक-दूसरे के साथ जुड़े रहे और साथ मिलकर जूझे। सपनों को सजाने और सपनों को निभाने का सफर जिनके साथ किया, उस दोस्त अरुण जेटली ने आज अपनी देह छोड़ दी। मैं कल्पना नहीं कर सकता कि मैं यहां बैठा हूं और मेरा दोस्त अरुण चला गया।' भावना और कर्तव्य का द्वंद्व पीएम मोदी ने तब कहा था, 'बहुत दुविधा के पल हैं मेरे सामने। एक तरफ कर्तव्य भाव से बंधा हूं और दूसरी तरफ दोस्ती का एक सिलसिला भावनाओं से भरा है। बहरीन की धरती से भाई अरुण को श्रद्धांजलि देता हूं और नमन करता हूं।' गौरतलब है कि अरुण जेटली का शनिवार 24 अगस्त को दोपहर 12.07 बजे दिल्ली के एम्स में को निधन हो गया था। उनका अंतिम संस्कार रविवार दोपहर निगम बोध घाट पर हुआ था।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment