दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे विपक्षी नेता- Loktantra Ki Buniyad

राहुल गांधी की श्रीनगर जाने की तैयारी के बीच जम्मू कश्मीर प्रशासन का बयान आया है. जम्मू कश्मीर प्रशासन ने कहा है कि विपक्षी नेता कश्मीर ना आएं और सहयोग करें. पुलिस सूत्रों का कहना है कि विपक्षी प्रतिनिधिमंडल को श्रीनगर एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दिया जाएगा. प्रशासन ने ट्वीट किया, नेताओं के दौरे से असुविधा होगी. हम लोगों को आतंकियों से बचाने में लगे हैं. प्रशासन ने कहा कि नेता उन प्रतिबंधों का भी उल्लंघन कर रहे होंगे, जो अभी भी कई क्षेत्रों में हैं. वरिष्ठ नेताओं को समझना चाहिए कि शांति, व्यवस्था बनाए रखने और नुकसान को रोकने के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी. जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द किए जाने के बाद से ही राहुल गांधी मोदी सरकार पर हमलावर हैं और राज्य की स्थिति को लेकर चिंता जाहिर कर रहे हैं. उनकी इसी चिंता और तेवर को देखते हुए जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राहुल गांधी को कश्मीर आने का न्योता दिया था. मलिक ने हेलिकॉप्टर भेजकर कश्मीर आने को कहा था.कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ साथ विपक्षी दलों के 9 नेता भी श्रीनगर जाएंगे. जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद राहुल गांधी पहली बार जम्मू कश्मीर के लिए रवाना होंगे. विपक्षी दल के नेताओं में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद, सीपीआई के डी राजा, माकपा के सीताराम येचुरी, डीएम रे टी शिवा, एनसीपी के माजिद मेमन, आरजेडी के मनोज झा शामिल हैं.एनसीपी के नेता माजिद मेनन ने कहा है कि हमारा उद्देश्य गड़बड़ी करना नहीं है. हम सरकार के विरोध में नहीं जा रहे हैं, हम सरकार के समर्थन में जा रहे हैं, ताकि हम भी सुझाव दें कि क्या किया जाना चाहिए.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment