महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान थोड़ी देर में, EC करेगा घोषणा- Loktantra Ki buniyad

नई दिल्ली: महाराष्ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनावों (Assembly Elections 2019) की घोषणा थोड़ी देर में हो सकती है. चुनाव आयोग (Election Commission) दोपहर 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस में चुनावी तारीखों का ऐलान करेगा. इससे पहले आयोग की टीमें दोनों राज्यों में जाकर वहां की तैयारियों का जायजा ले चुकी हैं. वैसे, सूत्रों के मुताबिक हरियाणा और महाराष्ट्र में अक्टूबर (October) के दूसरे और तीसरे हफ्ते में चुनाव होगा. हरियाणा (Haryana) में एक फेज में चुनाव के आसार हैं तो वहीं महाराष्ट्र (Maharashtra) में 2 चरणों में मतदान होने की संभावना जताई जा रही है. हालांकि, बताया जा रहा है कि झारखंड में विधानसभा चुनाव की घोषणा इन दो राज्यों के साथ नहीं की जाएगी. चुनाव आयोग के मुताबिक, झारखंड में चुनाव कराने की बाकी राज्यों से अलग स्थितियां हैं और अभी झारखण्ड की विधानसभा की अवधि खत्म होने में 3 महीने से अधिक का समय है. झारखंड में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) दिसंबर (December) में होने के आसार हैं. क्योंकि वहां विधानसभा गठित करने की तारीख जनवरी के पहले हफ्ते में है. आपको बता दें कि फिलहाल तीनों ही राज्यों में बीजेपी (BJP) की सरकार है.बता दें कि झारखंड विधानसभा को गठित करने की आखिरी तारीख़ 5 जनवरी है. जबकि हरियाणा विधानसभा की अवधि समाप्त होने की तारीख 2 नवंबर है और महाराष्ट्र में विधानसभा की अवधि 9 नवंबर को समाप्त हो रही है. राज्य विधानसभाओं का गणित उल्‍लेखनीय है कि महाराष्ट्र में विधानसभा की 288 सीटें हैं, जबकि हरियाणा में 90 और झारखंड में 81 सीटें हैं. इनके लिए इस साल के अंत तक चुनाव होने हैं. इन तीनों ही राज्यों में अक्टूबर 2014 में विधानसभा चुनाव हुए थे और 19 अक्‍टूबर को चुनावी नतीजों का ऐलान हुआ था. लिहाजा, इन तीनों ही प्रदेशों की विधानसभा का कार्यकाल जल्द खत्म होने जा रहा है.तीनों ही राज्यों में बीजेपी की सरकार इन विधानसभा चुनाव में तीनों ही राज्यों में बीजेपी की सरकार बनी थी. महाराष्ट्र विधानसभा की बात करें तो यहां बीजेपी को 288 सीटों में से 122 सीटें मिली थीं. वहीं, हरियाणा की 90 सीटों में से बीजेपी के खाते में 47 सीटें गई थीं, जिसके बाद यहां मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्‍व में बीजेपी की सरकार बनी थी. झारखंड में भी बीजेपी को विधानसभा की 81 सीटों में से 37 पर जीत मिली थी, जिसके बाद रघुबर दास वहां मुख्यमंत्री बने थे.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment