तिहाड़ या फिर दिल्ली पुलिस के लॉकअप में कटेगी पी. चिदंबरम की रात- Loktantra KI Buniyad

नई दिल्ली: अब तक सीबीआई की हिरासत में मौजूद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की गुरुवार को रात तिहाड़ जेल या फिर दिल्ली पुलिस के लॉकअप में कट सकती है। इससे पहले दिन में सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की प्रवर्तन निदेशालय की गिरफ्तारी से अग्रिम जमानत की अर्जी को खारिज कर दिया। चिदंबरम की याचिका को खारिज करते हुए शीर्ष अदालत ने कहा, 'आमतौर पर आर्थिक अपराधों में अग्रिम जमानत नहीं दी जाती है। तथ्यों और परिस्थितियों पर ध्यान रखते हुए यह केस अग्रिम जमानत के लिए उपयुक्त नहीं है।' अगर चिदंबरम की सीबीआई कस्टडी नहीं बढ़ती और ईडी उन्हें गिरफ्तार कर लेती है तो वह तुगलक रोड पुलिस स्टेशन में रहेंगे, जहां डी. के. शिवकुमार पहले से हैं।चिदंबरम को सीबीआई ने राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया है। इस बीच उनके वकील कपिल सिब्बल ने कोर्ट से कहा कि उनके मुवक्किल ईडी के सामने सरेंडर के लिए तैयार हैं। सिब्बल ने कोर्ट से कहा कि उनके मुवक्किल को न्यायिक हिरासत में नहीं भेजा जाना चाहिए। चिदंबरम की तरफ से उनके वकील सिब्बल ने कोर्ट से कहा, 'जहां तक सीबीआई की बात है तो मुझे (पी. चिदंबरम) को न्यायिक हिरासत में क्यों भेजा जाना चाहिए। उन्होंने (सीबीआई) सभी सवाल पूछ लिए हैं। मैं ईडी की कस्टडी में जाना चाहता हूं। मुझे न्यायिक हिरासत में नहीं भेजा जाना चाहिए।' बता दें कि अगर कोर्ट ने चिदंबरम को न्यायिक हिरासत में भेजा तो उन्हें तिहाड़ सेंट्रल जेल भेजा जाएगा। बता दें कि अब तक पी. चिदंबरम 15 दिन सीबीआई हिरासत में काट चुके हैं। शीर्ष अदालत ने चिदंबरम को करारा झटका देते हुए कहा कि जांच एजेंसी को उनके खिलाफ इन्वेस्टिगेशन के लिए पूरी स्वतंत्रता दी जानी चाहिए। इस स्टेज पर अग्रिम जमानत दिए जाने से केस प्रभावित होगा।हालांकि पी. चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति को अदालत ने एयरसेल-मैक्सिस डील में बेल दे दी। 3,500 करोड़ रुपये की इस डील में बेल मिलने से चिदंबरम को मामूली राहत जरूर मिली है। यदि ईडी की ओर से पी. चिदंबरम को अरेस्ट किया जाता है तो उन्हें तुगलक रोड पुलिस थाने में रखा जाएगा, जहां एक और कांग्रेसी नेता डीके शिवकुमार को भी रखा गया है। दूसरी तरफ ईडी यदि चिदंबरम की गिरफ्तारी नहीं करती है तो फिर उन्हें तिहाड़ जेल भेजा जा सकता है। वहां उन्हें भी अन्य कैदियों की तरह से सेल में रखा जा सकता है। गौरतलब है कि सीबीआई ने पी. चिदंबरम को अपनी हिरासत के दौरान दिल्ली स्थित अपने मुख्यालय में रखा था। दिलचस्प बात यह है कि पी. चिदंबरम को उसी इमारत में रखा गया था, जिसके उद्घाटन के कार्यक्रम में वह मौजूद थे।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment