दिल्ली में छठ घाट को लेकर भिड़े AAP-BJP कार्यकर्ता- Loktantra Ki Buniyad

दक्षिण दिल्ली के कालकाजी इलाके में छठ घाट बनाने को लेकर बीजेपी के निगम पार्षद सुभाष भड़ाना और आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज आमने-सामने आ गए. एमसीडी के पार्क में छठ घाट बनाया जा रहा थास जिसका निगम पार्षद ने विरोध किया. इस दौरान दोनों ही पार्टियों के समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की और एक-दूसरे से भिड़ गए. छठ घाट पर राजनीति यहीं नहीं थमी. रात के हंगामे के बाद आज सुबह आप सांसद संजय सिंह भी कालकाजी पहुंचे. इस दौरान भी आप और बीजेपी कार्यकर्ताओं में झड़प हुई. इसके बाद संजय सिंह अपने कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठ गए हैं. संजय सिंह का कहना है कि बीजेपी के लोग महाराष्ट्र में पूर्वांचलियों को पीटते हैं और अब यहां गुंडागर्दी कर रहे हैं. हमें छठ घाट बनाने से रोका जा रहा है. बीजेपी वाले हम पर चूड़ियां फेंक रहे हैं. पूरी दिल्ली बीजेपी का असली चेहरा देख रही है. मै दिल्ली का सांसद हूं. जब तक बीजेपी का असली चेहरा सामने नहीं आएगा. हम यहां से नहीं जाएंगे.इस मामले पर बीजेपी सासंद मनोज तिवारी ने कहा कि कल दिल्ली सरकार द्वारा भाजपा पर ये आरोप लगाया गया की अधिकृत छठ घाट बनाने के काम को भाजपा के पार्षद और कार्यकर्ताओं ने रुकवा दिया था. ये जो घटना हमारे संज्ञान में आई है, ये आरडब्ल्यू और छठ घाट बनाने वालों के बीच विवाद है . अब जिसे ज़िले की परमिशन मिलेगी वो कर लेगा. इसमें राजनीति करने का क्या फ़ायदा? मनोज तिवारी ने अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि वैसे तो आप छठ व्रत वालों को जहां से वे आते हैं उन्हें भगाने की भी नियत रखते हैं. उन्हें अवैध घुसपैठिया भी कहते हैं. AAP पर दो समुदायों को लड़ाने का आरोप मनोज तिवारी ने कहा कि मुझे इस घटना के बारे में पता चला है. लोकल लोगों की समस्या लोकल लोगों को समझ लेने दो. साथ ही यह भी कहा कि आम आदमी पार्टी यही चाहती है कि दो समुदाय लड़ जाएं, इनकी नफ़रत की राजनीति है. मनोज तिवारी ने कहा कि संजय सिंह जी, अरविंद केजरीवाल जी, आओ जमुना किनारे छठ करने किसने रोका है आपको ? मनोज तिवारी ने कहा कि आप लोकल लोगों और छठ करने वालों के बीच में विवाद कराने की कोशिश कर रहे हो. बाबा साहब आम्बेडकर का पार्क है, जहां छठ पूजा के नाम पे विवाद कर रहे हो तो विवाद ही होगा न. हमने दोनों पक्षों को बुलाया है. मैं आरडब्ल्यू वालों से भी मिलूंगा और छठ करने वाले लोगों से भी मिलूंगा. सुलझाया जाएगा विवाद मनोज तिवारी ने कहा कि अगर वहां पहले से छठ पूजा होती आई है तो कोई दिक़्क़त के बात ही नहीं है. अगर नहीं होती आई है तो उसके लिए परमिशन चाहिए. और अगर परमिशन मिल जाती है तो पूजा भी हो जाएगी. इसमें कोई विवाद ही नहीं है. छठ आम आदमी पार्टी की नियत नहीं है. अगर छठ पूजा इनकी नियत होती तो जमुना किनारे यह छठ पूजा की तैयारियों की सुविधा देखते. अब ये जाकर कॉलोनियों में दो पक्षों को लड़ाने में लगे हैं, ये बहुत ही निंदनीय है.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment