जिसने भी जम्मू-कश्मीर की शांति व्यवस्था को नुकसान पहुंचाया, वह जेल के अंदर होगा: राम माधव

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अंत के बाद पहली बार कश्मीर घाटी के दौरे पर पहुंचे बीजेपी महासचिव राम माधव ने कहा कि जो भी तत्व जम्मू-कश्मीर की शांति व्यवस्था में व्यवधान डालने का प्रयास करेंगे, उन्हें जेल में डाला जाएगा। राम माधव ने कहा कि कुछ नेता जेल में रहकर भी बाहर यह संदेश भेज रहे हैं कि प्रदेश के लोग बंदूक उठाकर अपने आपको बलिदान कर देंगे। मैं ऐसे नेताओं से कहना चाहता हूं कि वह खुद आगे आएं और पहले अपना बलिदान दें। राज्य के दौरे पर पहुंचे राम माधव ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अब तक सबकुछ कुछ परिवारों और चुनिंदा राजनेताओं के लिए किया जाता रहा था, लेकिन अब जो भी होगा वह राज्य के लाखों परिवारों के हित को ध्यान में रखकर ही होगा। उन्होंने कहा कि अब जम्मू-कश्मीर में शांति और विकास दो ही रास्तों पर चलकर काम किया जाएगा और जो भी इस रास्ते में खलल डालने का प्रयास करेगा उससे सख्ती से निपटा भी जाएगा। 'कुछ को जेल में रखना पड़े तो भी हम तैयार' श्रीनगर में बीजेपी के एक कार्यक्रम के दौरान राम माधव ने कहा कि प्रदेश में शांति व्यवस्था को नुकसान पहुंचाए बिना कोई भी अपने राजनीतिक कामों को कर सकता है। पूर्व में यहां के राजनेता लोगों को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करते थे, लेकिन अब हम ऐसा नहीं होने देंगे। वहीं घाटी में हिरासत में लिए गए लोगों के बारे में बात करते हुए राम माधव ने कहा कि अगर प्रदेश में विकास और शांति के लिए 200-300 लोगों को जेल में ही रखना पड़े तो हम उसके लिए भी तैयार हैं। 'राज्य की नौकरियां प्रदेश के युवाओं के लिए ही' प्रदेश के युवाओं से अपील करते हुए राम माधव ने कहा कि 370 के अंत होने के साथ ही कुछ लोगों ने यह अफवाह फैलाने का प्रयास किया कि अब प्रदेश की नौकरियां बाहरी राज्यों के लोगों को मिल जाएंगी। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि जम्मू-कश्मीर में उत्पन्न होने वाली हर एक नौकरी को यहां के स्थानीय लोगों को ही दिया जाएगा।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment