सीएम योगी आदित्यनाथ से नाराज मां बोलीं- न्याय न मिला तो तलवार उठाऊंगी- Loktantra Ki Buniyad

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने हिंदू समाज पार्टी के दिवंगत नेता कमलेश तिवारी के परिवारवालों से रविवार को मुलाकात की। तिवारी की मां ने इस मुलाकात पर असंतोष जताया है। उन्‍होंने कहा कि हिंदू धर्म में घर में किसी की मृत्यु हो जाने पर 13 दिन कहीं बाहर नहीं निकला जाता है, मगर उनका (मुख्यमंत्री का) आदेश था, इसलिए पुलिसवाले मेरे पीछे पड़े थे तो हमें मजबूरी में मिलने जाना पड़ा। हमारी इच्छा के मुताबिक न तो उनका (योगी आदित्यनाथ) हाव था न भाव। अगर संतुष्ट होते तो हमारा क्रोध क्यों उबलता? हमें इंसाफ नहीं मिला तो हम खुद तलवार उठाएंगे। कुसुमा ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक स्थानीय नेता शिव कुमार गुप्ता पर जमीन के विवाद को लेकर अपने बेटे की हत्या का आरोप लगाया है, मगर अभी उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है। दूसरी ओर, मुख्‍यमंत्री से मुलाकात के बाद तिवारी की पत्‍नी किरन ने बताया कि योगी ने हरसंभव कार्रवाई का आश्‍वासन दिया है। हम उनसे हुई मुलाकात से संतुष्‍ट हैं। 'न मुआवजे की बात, न नौकरी पर चर्चा' कुसुमा का का कहना है कि सरकार से महज उन्हें सुरक्षा मिलेगी और हत्यारों को गिरफ्तार किया जाएगा। इसके सिवा उनको कुछ भी नहीं मिलेगा। कमलेश तिवारी की मां ने कहा कि मुलाकात में मुआवजा और नौकरी की बात भी नहीं हुई। उन्होंने सीएम से मुलाकात के बाद संतुष्टि को लेकर कहा कि संतोष तो तब होगा जब कार्रवाई होगी। वहीं, उनका कहना है कि सुरक्षा के नाम पर महज इतना ही कहा गया कि सब एक साथ रहें तब ही सुरक्षा मिल सकेगी। अखिलेश यादव ने कसा तंज समाजवादी पार्टी (एसपी) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कमलेश तिवारी के परिजन से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मुलाकात पर कहा कि उम्मीद है कि सीएम ऐसी ही हमदर्दी हाल में अन्य जिलों में मारे गए लोगों के परिवारवालों के प्रति भी दिखाएंगे। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने ट्वीट कियास, 'प्रदेश की राजधानी में सरेआम हुई बेखौफ हत्या के शिकार मृतक के शोकाकुल परिवार से मिलना यथोचित कदम है।' उन्होंने तंज कसते हुए कहा, 'आशा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ऐसी ही सहृदयता इलाहाबाद, कन्नौज, झांसी और मेरठ में भी प्रकट करने जाएंगे, जहां प्रदेश की बदहाल कानून- व्यवस्था के शिकार अन्य लोगों के परिजन रहते हैं।'
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment