अभिजीत बनर्जी को नोबेल मिलने की बधाई, पर उनकी सोच वामपंथ से प्रेरित: पीयूष गोयल-Loktantra Ki Buniyad

नई दिल्ली: अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार प्राप्त करने वाले अभिजीत बनर्जी (Abhijeet Banerjee) के मुद्दे पर कांग्रेस और बीजेपी अलग-अलग राय रखती हैं. कांग्रेस जहां अभिजीत बनर्जी (Abhijeet Banerjee) की तारीफ करते नहीं थक रही है, वहीं बीजेपी के नेता लगातार अभिजीत बनर्जी (Abhijeet Banerjee) के विचारों की मुखालफत कर रहे हैं. केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने शुक्रवार को कहा, 'अभिजीत बनर्जी (Abhijeet Banerjee) को नोबल पुरस्कार मिले हैं उनको बधाई देता हूं, लेकिन उनकी समझ के बारे में तो आप सब जानते हैं. उनकी जो सोच है वह पूरी तरह से वामपंथ विचारधारा से प्रेरित है. उन्होंने 'न्याय' का बड़ा गुणगान गाए थे, भारत की जनता ने पूरी तरह से से उनकी सोच को नकार दिया है.'यहां आपको बता दें कि अभिजीत बनर्जी (Abhijeet Banerjee) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बधाई दे चुके हैं. हालांकि अभिजीत ने नोबल मिलने की घोषणा के तत्काल बाद कहा था कि भारत की अर्थव्यवस्था बेहद खराब दौर से गुजर रही है. अगर तत्काल इसे संभाला नहीं गया तो इसके बेहद बूरे परिणाम होंगे.उधर, कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार प्राप्त करने वाले अभिजीत बनर्जी (Abhijeet Banerjee), एस्थर डुफ्लो और माइकल क्रेमर को बधाई दी. मुंबई में 1961 में जन्मे बनर्जी ने हवार्ड विश्वविद्यालय से पीचएडी की उपाधि हासिल की और वह मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर हैं. बनर्जी को बधाई देते हुए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक बयान में कहा, 'शानदार उपलब्धि से अपने मूल देश को गौरवान्वित करने वाले प्रोफेसर बनर्जी और उनके साथ काम करने वाले सहयोगियों ने वैश्विक दरिद्रता हटाने के लिए प्रायोगिक रुख अपनाया, जिससे भारत समेत वैश्विक स्तर पर लाखों लोगों को गरीबी से बाहर निकालने में मदद मिली.' सोनिया गांधी ने कहा कि बनर्जी को नोबेल मिलने से हर भारतीय को खुशी हुई है.राहुल गांधी ने बताया अभिजीत बनर्जी (Abhijeet Banerjee) ने दिया था 'न्याय' हालांकि उनके बेटे और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस अवसर का प्रयोग राजनीति के लिए करने से नहीं चूके. उन्होंने बनर्जी के बधाई देते हुए कहा वह बनर्जी थे, जिन्होंने 'न्याय को धरातल पर उतारने में मदद की थी.' देशवासियों को न्यूनतम आय की गारंटी देने वाली 'न्याय योजना' कांग्रेस की ओर से किया गया चुनावी वादा था, जिसका पार्टी को वांछित परिणाम नहीं मिला. राहुल गांधी ने कहा, 'इसके बदले हमारे पास मोदीनोमिक्स है, जो अर्थव्यवस्थ को बर्बाद कर रही है और गरीबी को बढ़ा रही है.' भारतवंशी एमआईटी प्रोफेसर बनर्जी, उनकी पत्नी एस्थर डुफ्लो और हवार्ड के प्रोफेसर माइकल क्रेमर को गरीबी उन्मूलन के क्षेत्र में उनके कार्य के लिए 2019 के नोबेल पुरस्कार से नवाजा जाएगा. इसकी घोषणा सोमवार को की गई.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment