झारखंड विधानसभा चुनाव: बीजेपी में टिकट के लिए घमासान, मंत्री सरयू राय बोले- नहीं चाहिए बीजेपी का टिकट

रांची: झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में टिकट बंटवारे को लेकर घमासान शुरू हो गया है। पार्टी के सीनियर नेता और सरकार में खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने शनिवार को बगावती तेवर दिखाते हुए घोषणा कर दी कि उन्हें बीजेपी का टिकट नहीं चाहिए। सरयू राय ने दो विधानसभा क्षेत्रों के लिए नामांकन पत्र खरीद लिया है। संकेत साफ है कि वे दो जगहों से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। सरयू राय सीएम रघुवर दास और सरकार के आलोचक माने जाते हैं। बीजेपी ने शनिवार को उम्मीदवारों की चौथी लिस्ट जारी की थी। इस लिस्ट में तीन उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की गई। इसके साथ ही बीजेपी की सहयोगी रही आजसू ने भी एक और सूची जारी कर दी है। बीजेपी ने सीनियर नेता सरयू राय को अबतक टिकट नहीं दिया है। बीजेपी की चौथी सूची में भी सरयू राय का नाम नदारद रहा। प्रदेश में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि कहीं सरयू राय का टिकट कट तो नहीं गया। ऐसे में अगर सरयू राय निर्दलीय चुनाव लड़ते हैं तो जमशेदपुर पूर्वी सीट पर उनके सामने मुख्यमंत्री रघुवर दास होंगे। सरयू राय फिलहाल जमशेदपुर पश्चिमी से बीजेपी विधायक हैं। इधर तमाम कयासों और राजनीतिक उठापटक के बीच मंत्री सरयू राय शनिवार को जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा के टेल्को स्थित भुवनेश्वरी मंदिर पहुंचे। बोले राय- बता दिया है पार्टी नेताओं को सरयू राय ने शनिवार को साफ कर दिया कि जमशेदपुर पश्चिम सीट से बीजेपी के टिकट में उन्हें कोई रुचि नहीं है। उन्होंने कहा कि अपने निर्णय से पार्टी के आला नेताओं को अवगत करा दिया है। बीजेपी और आजसू के बीच तल्खी बढ़ी बीजेपी की ओर से जारी चौथी सूची में जुगसलाई सीट से मोतीराम बाउड़ी को मैदान में उतारा है, जहां से राज्य के जलसंसाधन मंत्री और आजसू के विधायक रामचंद्र सहिस चुनाव मैदान में हैं। दो दिनों पूर्व ही आजसू ने राज्य के बीजेपी के कोटे के खेल और संस्कृति मंत्री अमर कुमार बाउड़ी के खिलाफ चंदनक्यारी से अपना उम्मीदवार उतारकर बीजेपी को चुनौती दी थी। इसका जवाब शनिवार को बीजेपी ने अपनी चौथी सूची से दिया। बीजेपी ने जगन्नाथपुर सीट से सुधीर सुंडी और तमाड़ से रीता देवी मुंडा को उम्मीदवार बनाया है।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment