हैदराबाद गैंगरेप: तेलंगाना के गृह मंत्री ने विवादित बयान पर दी सफाई

हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) की राजधानी हैदराबाद (Hyderabad) में एक पशु चिकित्सक की हत्या और गैंगरेप मामले में राज्य सरकार के गृह मंत्री ने अपने विवादित बयान पर स्पष्टीकरण दिया है. मंत्री ने आने बयान पर सफाई देते हुए कहा- वो मेरी की तरह थी. मेरा किसी भी तरह की अमर्यादित टिप्पणी करने का इरादा नहीं था. मेरा मतलब बस इतना था कि अगर इस तरह कि स्थिति में फंसने के बाद कोई 100 नंबर पर कॉल करता तो उसकी मदद हो सकती थी, वो इस स्थिति से बच भी सकता था. मैंने पुलिस को इस मामले में सख्त असे सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं. इससे पहले राज्य में तेलंगाना राष्ट्र समिति की सरकार में गृह मंत्री महमूद अली महमूद (Mahmood ali mahmood)ने इस मामले पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि- 'वह एक डॉक्टर थी.. वह पढ़ी लिखी थी... क्यों उसने अपनी बहन को फोन किया? उसे 100 नंबर पर पहले कॉल करना चाहिए था.' गौरतलब है कि गैंग रेप के मामले में हैदराबाद की सायबराबाद थाना पुलिस (Cyberabad police) ने अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया है. इसमें दो गाड़ी के ड्राइवर और एक क्लीनर है. आरोपी की पहचान मोहम्मद पाशा, नवीन, केशावुलु और शिवा के तौर पर हुई है. पुलिस ने कहा है कि पहले इन लोगों ने पीड़िता को किडनैप किया और फिर गैंग रेप (Gang Rape) किया. बाद में उसे मौत के घाट उतार दिया. पुलिस ने कहा है कि जल्द ही आरोपियों को मीडिया के सामने पेश किया जाएगा. राष्ट्रीय महिला आयोग ने भेजा एक सदस्य वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) 27 वर्षीय पशु चिकित्सक की हत्या का मामला पुलिस के सामने उठाने के लिए एक सदस्य भेज रहा है. एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट किया कि जब तक दोषियों को सजा नहीं मिल जाती तब तक एनसीडब्ल्यू ‘कोई कसर नहीं छोड़ेगा’. साइबराबाद पुलिस आयुक्त वी सी सज्जनार को लिखे पत्र में शर्मा ने कहा कि घटना की खबर से आयोग व्यथित है और वह महिलाओं की सुरक्षा को लेकर गंभीर रूप से चिंतित है. शर्मा ने पत्र में लिखा, ‘मामले में जांच के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग अपने एक सदस्य की अध्यक्षता में जांच समिति बनाने जा रहा है. मामले की गंभीरता देखते हुए मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि कृपया इस संबंध में जांच करें और उचित कार्रवाई करें.’ शर्मा ने कहा कि आयोग को एक विस्तृत कार्रवाई रिपोर्ट दी जा सकती है. पुलिस के मुताबिक सभी आरोपियों को सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने कहा है कि हो सकता है कि पीड़िता की स्कूटर को जानबूझ कर पंचर किया गया हो और फिर मदद करने के बहाने रेप किया गया.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment