महाराष्ट्र सरकार गठन: नहीं बनी बात? NCP बोली, 22 दिसंबर के बाद होगा डेप्युटी सीएम को लेकर फैसला

मुंबई: महाराष्ट्र में साझा सरकार चला रहे उद्धव ठाकरे लिए चुनौतियां अभी खत्म नहीं हुई हैं? यह सवाल इसलिए उठ रहा है कि भले ही कांग्रेस ने स्पीकर पद लेने पर सहमति जता दी है, लेकिन डेप्युटी सीएम को लेकर अब तक फैसला नहीं हो सका है। गठबंधन की अहम साझीदार एनसीपी ने कहा है कि डेप्युटी सीएम पर फैसला 22 दिसंबर के बाद होगा। एनसीपी के सीनियर लीडर प्रफुल्ल पटेल ने कहा, 'डेप्युटी सीएम की पोस्ट एनसीपी के पास है और हम इसे 22 दिसंबर के बाद भरेंगे, जब विधानसभा का सत्र समाप्त हो जाएगा।'सूत्रों का कहना है कि एनसीपी में खुद डेप्युटी सीएम के पद को लेकर खींचतान मची है। कहा जा रहा है कि देवेंद्र फडणवीस संग अचानक डेप्युटी सीएम की शपथ लेने वाले अजित पवार को यह जिम्मेदारी ली जा सकती है, लेकिन अब तक इस पर एनसीपी ने आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा है। सूत्रों के मुताबिक एनसीपी में इस पर मतभेद हैं, जयंत पाटील भी इस रेस में बताए जा रहे हैं।इसके अलावा कांग्रेस की ओर से भी डेप्युटी सीएम के पद की मांग की जा रही है। यदि उसकी मांग मानी जाती है तो राज्य में दो डेप्युटी सीएम होंगे। हालांकि सूत्रों का कहना है कि स्पीकर पद पर कांग्रेस के राजी होने का अर्थ है कि वह डेप्युटी सीएम के पद के त्याग पर सहमत हो गई है। इस बीच कांग्रेस की ओर से नाना पटोले को स्पीकर कैंडिडेट बनाए जाने के बाद बीजेपी ने किसन कठोरे का नाम अपने उम्मीदवार के तौर पर फाइनल किया है।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment