लद्दाख से पीछे हटने लगी चीनी सेना


 

 रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को संसद में इसकी जानकारी दी। भारत और चीन ने पश्चिम हिमालय के टकराव वाले क्षेत्र से सैनिकों को पीछे हटने पर राजी हुए हैं। भारतीय रक्षा सूत्रों ने इस दिशा में एक  वीडियो भी जारी किया है। दोनों देशों के बीच लद्दाख के पैंगोंग सो इलाके में कई महीनों से जारी गतिरोध को खत्म करने पर सहमत हुए हैं और पीछे हट रहे हैं।  

राजनाथ ने संसद में कहा कि 14 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित पैंगोंग सो झील में सैन्य स्थिति को लेकर दोनों देश कई दौर की सैन्य वार्ता और कूटनीतिक संवाद के बाद सहमति पर पहुंचे हैं।  

राजनाथ ने कहा, चीन से हमारी लगातार बातचीत के बाद के कारण हम पैंगोंग सो झील के उत्तरी और दक्षिण किनारे से हम सहमति के इस बिंदु तक पहुंचे हैं।  चीन के रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को कहा था कि दोनों देशों के अग्रिम मोर्चे पर तैनात सैनिक पीछे झील के किनारे से हटना शुरू हो गए हैं। बता दें कि  दोनों देशों के बीच सीमा पर गतिरोध अप्रैल में शुरू हुआ था, जब भारत ने कहा था कि चीनी सैनिक वास्तविक नियंत्रण रेखा के काफी अंदर तक घुस आए थे। वहीं 15 जून को भारत और चीनी पक्ष के बीच गलवान घाटी में हिंसक टकराव हुआ था, जिसमें 20 भारतीय सैनिक मारे गए थे। दोनों देशों के बीच 45 सालों में पहला खूना टकराव था। इस खूनी जंग में कई चीनी सैनिक भी मारे गए थे, जिनकी कोई अधिकृत संख्या पता नहीं चल पाई है। 

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment