जनता का मजाक उड़ाने वाला झूठ का पुलिंदा है बजट- तेजस्वी


 

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्य सरकार के बजट को 'ढोल का पोल' और जनता का मजाक उड़ाने वाला बताया है। उन्होंने कहा कि बजट में कोई नई घोषणा नहीं है, न ही नई योजना। सारी बातें वही हैं, जिन्हें पिछली बार भी कहा गया था। वही आवंटन भी। मतलब साफ कि काम कुछ नहीं हो रहा है। सदन में हर वर्ष उसी बजट को दोहरा दिया जाता है।

तेजस्वी ने कहा कि सत्तारूढ़ दलों ने विधानसभा चुनाव में 20 लाख रोजगार देने का ढोल खूब पीटा। अब जब सत्ता में आ गए तो सरकार को रोजगार सृजन का ब्लूप्रिंट जनता के सामने रखना चाहिए था। पिछले पांच बजट से मुख्यमंत्री लगातार एक खेल स्टेडियम बनवाने की घोषणा कर रहे हैं। परंतु अभी तक घोषणा से बाहर नहीं आ पाया है।


तेजस्वी ने कहा कि देश में शायद ही कोई ऐसी सरकार है, जो अदालत के आदेश के बाद भी नियुक्ति पत्र नहीं देती है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का सात निश्चय पार्ट-1 तो पूरा हो नहीं पाया। बीच में ही भ्रष्टाचार, लीकेज और कमीशनखोरी का पर्याय बन गया है, जिसमें नल जल योजना तो अपने आप में भ्रष्टाचार की गाथा है, पर मुख्यमंत्री अब सात निश्चय-2 की बात करके सबको भ्रमित करने लगे हैं।

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment