आने वाले त्योहारों और कोरोना के बढ़ते केस के बीच गृह सचिव ने सभी राज्यों को लिखी चिट्ठी, दिए ये निर्देश

 



देश में कोरोना की रफ्तार एक बार फिर से कई राज्यो में बेकाबू होती जा रही है. कई राज्यों सरकारों की तरफ से इसको लेकर सख्त कदम उठाते हुए लॉकडाउन जैसी सख्ती की गई है. इधर, देश में कोरोना की एक और लहर और आने वाले दिनों में कई त्योहारों को देखते हुए केन्द्रीय गृह सचिव अजय भल्ला की तरफ से शुक्रवार को सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखा गया है. इसमें केन्द्रीय गृह सचिव की तरफ से त्योहारों के मद्देनजर एहतियाती कदम उठाने को कहा गया है ताकि कोरोना संक्रमण की रफ्तार को कम किया जा सके.

इस पत्र में यह कहा गया है देश मुश्किल दौर से गुजर रहा है. हाल के दिनों में कई राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 के मामले और मौत की संख्या बढ़ी है. स्थिति का आकलन करने के बाद केन्द्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से 23 मार्च को गाइडलाइन्स जारी की गई हैं.

पत्र में राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से इस बात पर जोर देते हुए यह कहा गया है कि वे कड़ाई से टेस्ट-ट्रैक और ट्रीट प्रोटोकॉल का पालन करें. इसके साथ ही उसमें कहा गया है कि कोविड-19 को लेकर व्यवहार, अन्य गतिविधियों के स्टैंडर्ड ऑफ प्रोटोकॉल्स को फॉलो करें, जैसे- स्कूलों के खोलने, उच्च शिक्षण संस्थानों, होटल्स और रेस्टोरेंट्स, शॉपिंग मॉल्स, मल्टीप्लैक्स, एंटरटेनमेंट पार्क्स, जिम, प्रदर्शनी आदि. स्थिति के आकलन के बाद राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों की तरफ से जिला और वॉर्ड स्तर पर स्थानीय लॉकडाउन लागू किया जा सकता है.

आने वाले त्योहारों जैसे- होली, शब-ए-बारात, फसल कटाई के त्योहार, ईस्टर, ईद-उल-फितर आदि के लिए राज्य और केन्द्र सरकार को आवश्यक कदम उठाना चाहिए ताकि भीड़ को नियंत्रित किया जा सके. गृह सचिव की तरफ से राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों को आगे कहा गया कि वे जिला प्रशासन और पुलिस अथॉरिटीज को आवश्यक निर्देश जारी करें ताकि आगामी त्योंहारों को लेकर लोगों को इकट्ठा होते समय कोविड-19 प्रोटोकॉल्स का पालन किया जा सके.

इसमें आगे कहा गया है कि सार्वजनिक जगहों पर कोविड-19 नियमों का कड़ाई से पालन कराने पर कोरोना संक्रमण के ट्रांसमिशन और देश में कोरोना की रफ्तार को रोकने में मदद मिलेगी.

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment