एंटीलिया मामले की जांच NIA को ट्रांसफर करने पर भड़के उद्धव, कहा- खुलासा करने तक नहीं रुकेंगे


 

मुकेश अंबानी के घर के बाहर संदिग्ध हालत में विस्फोटकों के साथ खड़ी स्कॉर्पियो के मिलने के मामले की जांच सोमवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को ट्रांसफर किया गया है. इसके बाद एनआईए मुंबई स्थित मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटकों के साथ खड़ी गाड़ी की जांच करेगी. केन्द्रीय जांच एजेंसी ने कहा कि एनआईए केस को फिर से दर्ज करने की प्रक्रिया में है.

उद्धव बोले- खुलासा करने तक करते रहेंगे जांच

राष्ट्रीय जांच एजेंसी के इस बयान के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भड़क गए. उन्होंने कहा- "मनसुख हिरेन केस की एटीएस की तरफ से जांच की जा रही है. सिस्टम सिर्फ एक व्यक्ति के लिए नहीं है. पिछले सरकार में भी वही सिस्टम था. हम पूरी तरह से विश्वास करते हैं, इसलिए एटीएस की जांच जारी है. लेकिन इसके बावजूद अगर केन्द्र इस केन्द्र को एनआईए को सौंपता है तो इसका मतलब ये है कि कुछ संशययुक्त है. हम इसे तब तक नहीं छोड़ेंगे जब तक हम इसका खुलासा नहीं कर देते हैं." 

'इस केस में जरूर कुछ गड़बड़झाला'

महाराष्ट्र के सीएम ने आगे कहा- "राज्य के गृह मंत्री ने इस केस को एटीएस को सौंप दिया है. लेकिन एनआईए को यह केस दिया है तो यह दिखाता है कि विपक्ष कानून-व्यवस्था का मुद्दा उठाकर महाराष्ट्र की छवि को बदनाम करने की कोशिश कर रहा है. जिस तरह से इस केस को उनके हाथ में दिया गया है यह दिखाता है कि इस केस में कुछ गड़बड़झाला है.

अनिल देशमुख ने कहा- एनआईए कर रही जल्दबाजी

उधर, एंटीलिया मामले की जांच एनआईए के हाथों में सौंपने के बाद महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी जल्दबाजी कर रही है. देशमुख ने कहा- जो मुकेश अंबानी के घर के आगे स्कोर्पियो मिली थी उसकी जांच एटीएस कर रही थी. एनआईए ने इस मामले को अब लिया है. पहले भी सुशांत के मामले को मुंबई पुलिस  से सीबीआई ने लिया था. सभी को ताज्जुब है कि सुशांत केस को सीबीआई ने लिया था और अभी भी बता नहीं पाई है कि सुशांत ने आत्महत्या किया था या उसकी हत्या हुई थी. एनआईए को अधिकार है, लेकिन एटीएस अच्छे से काम कर रही थी.मनसुख हिरेन और गाड़ी चोरी की जांच एटीएस अभी भी  कर रही है और करती रहेगी. 

गौरतलब है कि दक्षिण मुंबई में अंबानी के बहुमंजिला घर 'एंटीलिया' के निकट 25 फरवरी को एक 'स्कॉर्पियो' कार के अंदर जिलेटिन की छड़ें रखी हुई मिली थीं. पुलिस ने कहा था कि कार 18 फरवरी को एरोली-मुलुंद ब्रिज से चोरी हुई थी. वाहन के मालिक हीरेन मनसुख शुक्रवार को ठाणे में मृत पाए गये थे.


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment