सारी संपत्ति पर मालिकाना हक सेवादार के नाम कर गए भय्यूजी, दूसरे सूइसाइड नोट से हुआ खुलासा- /bhaiyyuji-maharaj-gave-all-his-financial-rights-to-his-trusted-sevadar

इंदौर :आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज की खुदकुशी मामले में पुलिस को मिले सूइसाइड नोट के दूसरे पेज से सनसनीखेज मोड़ आ गया है। इंदौर पुलिस को मिला कथित सूइसाइड नोट पारिवारिक कलह की ओर इशारा करता है। इसके अनुसार, 'भय्यूजी महाराज ने अपनी संपत्ति और बैंक अकांउट्स का मालिकाना हक अपने भरोसेमंद सेवादार विनायक को सौंपा है।' चैनल टाइम्स नाउ के मुताबिक, सूइसाइड नोट के इस दूसरे पेज पर लिखा है, 'मेरी सभी आर्थिक शक्तियां, संपत्ति, बैंक अकाउंट्स और सभी कागजातों का हक विनायक को देता हूं क्योंकि मुझे विनायक पर पूरा भरोसा है। मैं यह सब कुछ बिना किसी दबाव के लिख रहा हूं।' बता दें कि मंगलवार को इंदौर के खांडवा रोड स्थित अपने आवास पर भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। उन्हें तुरंत स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने मंगलवार को भय्यूजी महाराज का तथाकथित सूइसाइड नोट बरामद किया था जिसके अनुसार वह काफी तनाव में थे और जिंदगी से ऊब चुके थे। इसमें उन्होंने लिखा था, 'किसी को परिवार की जिम्मेदारी लेनी होगी.. मैं अब जा रहा हूं.. बहुत तनाव में हूं और ऊब चुका हूं।' भय्यूजी का पार्थिव देह को अंतिम दर्शन के लिए इंदौर के सूर्योदय आश्रम में रखा गया था। भय्यूजी को मुखाग्नि उनकी बेटी कुहू देगी। भय्यूजी ने अपनी पहली पत्नी माधवी की मौत के बाद पिछले साल डॉ. आयुषी से दूसरी शादी की थी। पहली पत्नी से उन्हें एक बेटी कुहू है जो पुणे में पढ़ाई कर रही हैं। भय्यूजी की मौत के 20 घंटे बाद जो तथ्य सामने आए हैं उनसे इसकी भी पुष्टि होती है कि उन्होंने अपनी पहली पत्नी की बेटी और दूसरी पत्नी के बीच चल रही कलह के चलते जान दी थी। इसके साथ ही उस महिला के बारे में भी पता लगाया जा रहा है, जिससे एक दिन पहले वह एक रेस्त्रां में मिले थे।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment