ट्रंप किम जोंग-उन से फिर मिलने को तैयार पर नॉर्थ कोरिया के सुधरने के संकेत नहीं

वॉशिंगटन: संयुक्त राष्ट्र संघ के न्यूक्लियर वॉचडॉग ने कहा है कि अबतक इस बात के संकेत नहीं दिखे हैं कि नॉर्थ कोरिया ने नाभिकीय गतिविधियों पर रोक लगाई हो। इंटरनैशनल अटॉमिक एनर्जी एजेंसी (IAEA) ने एक रिपोर्ट में कहा है कि नॉर्थ कोरिया के न्यूक्लियर प्रोग्राम का जारी रहना काफी चिंता की बात है। उधर IAEA के इस ताजे बयान के इतर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप नॉर्थ कोरिया से अपनी वार्ता को एक बार फिर सफल ठहराने का दावा करते हुए किम जोंग-उन से दोबारा मुलाकाता संकेत दे रहे हैं। IAEA की यह रिपोर्ट नॉर्थ कोरिया के साथ-साथ ट्रंप के दावों पर भी सवालिया निशाना खड़ा कर रही है। आपको बता दें कि 12 जून को सिंगापुर में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग-उन के बीच ऐतिहासिक मुलाकात संपन्न हुई थी। ट्रंप ने घोषणा की थी कि नॉर्थ कोरिया ने पूरी तरह से नाभिकीय निरस्त्रीकरण का वादा किया है। बीते महीनों में ऐसी तमाम रिपोर्ट्स आईं जिनमें इस बात का दावा किया गया कि नॉर्थ कोरिया अपना वादा पूरा नहीं कर रहा। सोमवार को ट्रंप ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि किम की मंशा पर कितना भी शक किया जा रहा हो लेकिन परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए ठोस कदम उठाए गए हैं। ट्रंप ने दावा भी कर दिया कि उन्होंने उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षणों को रोका है। किम से दोबारा मिलने के सवाल पर ट्रंप ने कहा, 'बहुत संभावना है कि हम फिर मिलेंगे लेकिन मैं इसपर बयान नहीं देना चाहता।' ऐसे में संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी IAEA की नई रिपोर्ट ट्रंप के दावों के प्रतिकूल खड़ी दिख रही है। पिछले दिनों नॉर्थ कोरिया के शासक किम ने भी अमेरिका पर निशाना साधा था। किम ने कहा था कि 'शत्रुतापूर्ण ताकतें' नाकाबंदी कर कोरियाई जनता को बर्बाद करना चाहती हैं। आपको बता दें कि अमेरिका ने अभी नॉर्थ कोरिया से अपने प्रतिबंध वापस नहीं लिए हैं।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment