केरल में बाढ़ से तबाही, NDRF ने चलाया अब तक का सबसे बड़ा राहत और बचाव अभियान

नई दिल्ली: राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने बारिश और बाढ़ से जूझ रहे केरल के विभिन्न इलाकों से 10 हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित निकाला है और कहा है कि उसने अब तक का देश का सबसे बड़ा राहत और बचाव अभियान छेड़ा है. एनडीआरएफ के एक प्रवक्ता ने कहा कि उसकी कुल 58 टीम राहत एवं बचाव काम के लिए केरल में तैनात की गई हैं. उनमें से 55 टीम वहां काम कर रही हैं जबकि तीन टीम रास्ते में है. प्रवक्ता ने कहा,‘बाढ़ से जूझ रहे केरल राज्य में बल ने अपना राहत एवं बचाव अभियान तेज कर दिया है.’ उन्होंने कहा,‘इसके (2006 में) गठन के बाद से किसी एक राज्य में अब तक का सबसे बड़ी तैनाती है और इस तरह यह अब तक का हमारा सर्वाधिक बड़ा आपदा मोचन अभियान है.’ आपदा मोचन बल की हर टीम में 35-40 कर्मी हैं. प्रवक्ता ने बताया कि इन टीमों ने अब तक 194 लोगों और 12 जानवरों को बचाया है और 10,467 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है. एनडीआरएफ की टीम अभी त्रिचुर (15), पथनमथिट्टा (13), अलापुझा (11), एर्णाकुलम (5), इडुक्की (4), मलापुरम (3) वायनाड और कोझीकोड (दो-दो) में काम कर रही हैं. प्रवक्ता ने कहा कि यहां एक नियंत्रण कक्ष दिन-रात हालात पर निगाह रखे है और प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने में लगी अन्य एजेंसियों के साथ संपर्क में है. पीएम ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने केरल के बाढ़ प्रभावित कुछ इलाकों का दौरा किया. पीएम नरेंद्र मोदी ने बाढ़ प्रभावित केरल के लोगों को उनके ‘जीवटता’ के लिए सलाम किया और आज कहा कि देश इस समय राज्य के साथ पूरी दृढ़ता के साथ खड़ा है. केरल के राज्यपाल पी सदाशिवम, मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन और केन्द्रीय मंत्री के जे अल्फोंस हवाई सर्वेक्षण के दौरान प्रधानमंत्री के साथ थे. बाढ़ स्थिति की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करने के बाद मोदी ने कई ट्वीट कर कहा,‘मैं केरल के लोगों की उनकी जीवटता के लिए सलाम करता हूं...राष्ट्र इस वक्त केरल के साथ पूरी दृढ़ता के साथ खड़ा है.’ प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया,‘मेरी संवेदना उन परिवारों के साथ है जो केरल में बाढ़ के कारण अपने लोगों को खो चुके हैं. मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं. हम सभी केरल के लोगों की भलाई और सुरक्षा के लिए प्रार्थना करते हैं.' पीएम मोदी ने कहा,‘केन्द्र सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि प्रधानमंत्री आवास योजना, मनरेगा, विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं, बागवानी के समन्वित विकास के लिए मिशन के लाभ केरल के प्रभावित लोगों तक प्राथमिकता के आधार पर पहुंचे.’
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment