पाकिस्तान: पीएम, प्रेजिडेंट समेत शीर्ष अधिकारियों की फर्स्ट क्लास हवाई यात्रा पर बैन-pak-bans-discretionary-use-of-state-funds

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में इमरान खान की नई सरकार ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत शीर्ष अधिकारियों और नेताओं की फर्स्ट क्लास हवाई यात्रा पर बैन लगा दिया है। सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने बताया है कि शुक्रवार को पीएम इमरान खान के नेतृत्व में हुई कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया गया है। इसके अलावा राज्य निधि के विवेकाधीन उपयोग के अधिकार को भी समाप्त कर दिया गया है। फवाद चौधरी ने मीडिया को बताया कि यह तय हुआ है कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, चीफ जस्टिस, सेनेट चेयरमैन, स्पीकर नैशनल असेंबली और सूबों के मुख्यमंत्री क्लब/बिजनस क्लास से सफर करेंगे। एक सवाल का जवाब देते हुए चौधरी ने बताया कि आर्मी चीफ को फर्स्ट क्लास हवाई यात्रा की अनुमति नहीं थी और वे हमेशा बिजनस क्लास इस्तेमाल करते हैं। पाकिस्तान के सूचना मंत्री ने बताया कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और अन्य अधिकारियों द्वारा स्टेट फंड के विवेकाधीन आवंटन के अधिकार को भी खत्म कर दिया गया है। चौधरी ने दावा किया कि पूर्व पीएम नवाज शरीफ ने इस साल विवेकाधीन आवंटन के अधिकार का इस्तेमाल कर 51 अरब डॉलर खर्च किए। पीएम इमरान खान ने विदेशी या घरेलू दौरों में स्पेशल प्लेन के इस्तेमाल को रोकने और बिजनस क्लास से सफर करने का फैसला किया है। 25 जुलाई को पाकिस्तानी चुनावों में जीत हासिल करने के बाद इमरान खान ने ऐलान किया था कि वह आलीशान पीएम आवास में नहीं रहेंगे। उन्होंने इसके एक छोटे हिस्से में रहने का फैसला किया जहां पहले पीएम के मिलिटरी सचिव रहा करते थे। खान ने केवल दो गाड़ियों और दो नौकर रखने का भी फैसला किया था। इन फैसलों के अलावा इमरान कैबिनेट ने पांच दिनों की बजाय 6 दिनों की वर्किंग करने पर भी विचार किया। हालांकि कुछ मंत्रियों के विरोध पर इसमें यथास्थिति बरकरार रखी गई। पाकिस्तान में 2011 बिजली की कमी से निपटने और ईंधन बचाने के लिए पांच दिनों की वर्किंग का प्रावधान किया गया था। इमरान सरकार ने इसके साथ छेड़छाड़ नहीं की लेकिन ऑफिस टाइमिंग को सुबह 8 से शाम 4 की बजाय सुबह 9 से शाम 5 बजे का कर दिया गया है।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment