केरल बाढ़ UPDATE: हजारों KM सड़क-134 पुल बर्बाद, 370 की मौत

नई दिल्ली: केरल में बाढ़ और बारिश की तबाही ने हर किसी को हैरान कर दिया है. केरल पर आई इस दुख की घड़ी में पूरा देश उनके साथ है और अपने-अपने तरीके से मदद कर रहा है. कई लोग मुख्यमंत्री राहत कोष में सहायता राशि दे रहे हैं, तो वहीं लगातार सामान भी भिजवाया जा रहा है. केरल में सेना वहां फंसे लोगों के लिए देवदूत बनकर उभरी है. केरल में किस तरह मदद की जा रही है और अभी तक के बड़े अपडेट्स यहां पढ़ें... 1. प्रदेश में बाढ़ के कारण 7,24,649 लोगों को राहत शिविरों में शरण लेनी पड़ी है. बाढ़ पीड़ितों के लिए 5,645 राहत शिविर बनाए गए हैं. बाढ़ की त्रासदी ने 370 जिंदगियां लील लीं. 2. अभी तक सेना और अन्य एजेंसियों के द्वारा करीब 38 हजार से ज्यादा लोगों को बचाया जा चुका है. 3. 67 हेलिकॉप्टर, 24 प्लेन, 548 मोटरबोट लगातार राहत कार्यों में जुटे हुए हैं. 4. करीब 1 लाख जवान आर्मी, नेवी, एयरफोर्स, कोस्टगॉर्ड, NDRF, SDRF के लोगों को बचाने में जुटे. 5. करीब 16000 किमी. सड़क, 134 पुल बाढ़ के कारण तबाह. 6. हजारों घर, 40 हजार एकड़ से अधिक खेती की जमीन बर्बाद. 7. सभी जिलों में जारी किया गया रेड अलर्ट अब वापस ले लिया गया है. मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में भारी बारिश से राहत का दावा जरूर किया है. लेकिन आपदा के इस दौर से केरल में जान-माल का जो नुकसान हुआ है, उससे केरल और वहां के रहने वालों का जीवन पटरी पर लौटने पर काफी समय लग सकता है. जबकि इडुक्की, कोजीकोड, कन्नूर में येलो अलर्ट जारी है. 8. राहत शिविरों के आस-पास भी पानी भरा है, जिसके कारण कई जगह महामारी फैलने का खतरा है. अलुवा में तीन लोगों को चिकनपॉक्स हुआ है और उन्हें अस्पताल में भर्ती भी कराया गया है. 9. केरल में 29 मई को आई पहली बाढ़ के बाद से लोगों की मौत का सिलसिला जारी है. बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित अलाप्पुझा, एर्नाकुलम और त्रिशूर में बचाव कार्य जारी है. 10. कई राज्य सरकारों, एनजीओ, आम लोगों के द्वारा लगातार केरल में सहायता राशि, खाने-पीने की सामग्री पहुंचाई जा रही है.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment