जन्माष्टमी पर शाहरुख ने फोड़ी मटकी तो भड़के उलेमाओं ने जारी किया फतवा

नई दिल्ली : फिल्म स्टार शाहरुख खान विवादों में घिर गए हैं. इस बार मुस्लिम उलेमाओं ने उनके खिलाफ ही फतवा जारी कर दिया है. ये फतवा इसलिए जारी किया, क्योंकि उन्होंने मुंबई में अपने घर पर जन्माष्टमी के मौके पर दही हांडी का कार्यक्रम रखा और उसे फोड़ा. उन्होंने इसकी तस्वीरें अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर की हैं. इसके बाद तमाम मौलाना उन पर भड़क गए और उनके खिलाफ फतवा जारी कर दिया गया. उनकी आपत्ति इस बात पर है, कि शाहरुख ने एक हिंदू त्योहार मनाया. सोमवार को शाहरूख खान ने मुंबई में अपने घर मन्नत में पत्नी गौरी, बेटे अबराम और फैन्स के साथ दही हांडी फोड़ी. इस कार्यक्रम की तस्वीरें उन्होंने ट्विटर पर भी शेयर कीं. लेकिन उनके ऐसा करने से उलेमाओं का पारा चढ़ गया. बिना मूंछ के दाढ़ी रखने वाले मुस्लिम कट्टरपंथी होते हैं- वसीम रिजवी उलेमाओं ने इसे शरीयत में नाजायज और इस्लाम में हराम करार दिया. शाहरुख खान के ऐसा करने पर फतवा ऑन मोबाइल सर्विस के चेयरमैन मुफती अरशद फारुकी ने कहा कि वह एक सेलिब्रिटी हैं, इसलिये उन्हें ध्यान रखना चाहिए कि वे किस धर्म के त्यौहार को किस तरह से मनाएं. फारुखी ने कहा, दूसरे धर्म के त्यौहार में शामिल होना दूसरी बात है, लेकिन गैर-इस्लामिक त्यौहार को अपने घर पर मनाना और उस धर्म की परम्परा का आयोजन करना इस्लाम में सही नहीं है. वहीं देवबंदी उलेमा औलाना नदीम उल वाजदी ने कहा, 'इस्लाम में दूसरे धर्म के उत्सव मनाने की मनाही है. ये शरिया के हिसाब से भी गलत है.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment