हत्या मामले में रामपाल की सजा का ऐलान आज, हिसार में बढ़ाई गई सुरक्षा

हत्या के दो मामलों में दोषी करार दिए गए रामपाल की सजा का ऐलान आज किया जाएगा. बीते 11 अक्टूबर को हिसार की एक विशेष अदालत ने रामपाल समेत कुल उसके 26 अनुयायियों को दोषी करार दिया था. कोर्ट ने सजा के ऐलान के लिए 16-17 अक्टूबर की तारीख तय की थी. कहा जा रहा है कि सजा के ऐलान से पहले ही रामपाल कोर्ट के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दे सकते हैं. सजा के ऐलान को देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गई है. पिछली सुनवाई जेल के अंदर ही हुई थी. प्रशासन की ओर से इलाके में धारा 144 लगाई गई है. जिन मामलों में रामपाल को सजा सुनाई गई है, उनमें पहला केस महिला भक्त की संदिग्ध मौत का है, जिसकी लाश उनके सतलोक आश्रम से 18 नवंबर 2014 को बरामद की गई थी. जबकि दूसरा मामला उस हिंसा से जुड़ा है जिसमें रामपाल के भक्त पुलिस के साथ भिड़ गये थे. इस दौरान करीब 10 दिन चली हिंसा में 4 महिलाएं और 1 बच्चे की मौत हो गई थी. 67 वर्षीय रामपाल और उसके अनुयायी नवम्बर, 2014 में गिरफ्तारी के बाद से जेल में बंद थे. रामपाल और उसके अनुयायियों के खिलाफ बरवाला पुलिस थाने में 19 नवम्बर, 2014 को दो मामले दर्ज किये गये थे. सुरक्षा के कड़े इंतजामहरियाणा के हिसार शहर को किले में तब्दील कर दिया गया है. किसी भी संभावित बवाल, हिंसा और तोड़फोड़ जैसी घटनाओं से निपटने के लिए पुलिस ने सुरक्षा के अभूतपूर्व इंतजाम किए हैं. हिसार जिले में धारा-144 लागू कर दी गई है. अदालत के चारों ओर तीन किलोमीटर का सुरक्षा घेरा बनाया गया है. इस सुरक्षा घेरे को भेदकर कोई भी बाहरी व्यक्ति अंदर प्रवेश नहीं कर सकेगा.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment