आज ही 'फ्लोर टेस्ट' कराए जाने की मांग पर SC का तत्काल सुनवाई से इनकार- Loktantra Ki buniyad


बेंगलुरु: कर्नाटक में जारी सियासी संकट पर आज फैसला आ सकता है। कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार रहेगी या गिर जाएगी। इसका फैसला सोलवार को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से होगा। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की ओर से पेश विश्वास मत (Trust Motion) पर सदन में बहस होगी। सोमवार को जब दोबारा सदन बैठेगा तो आगे बहस होगी। इस बीच कर्नाटक के राज्यपाल द्वारा कुमारस्वामी को बहुमत साबित करने के लिए दी गई दो समय सीमाएं बीत चुकी हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक में आज ही फ्लोर टेस्ट पर वोटिंग कराने की मांग पर तत्काल सुनवाई से इनकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि आज सुनवाई संभव नहीं है।कोर्ट ने कहा कि देखेगे कि क्या कल सुनवाई के लिए मामला लग सकता है। सुप्रीम कोर्ट में दो निर्दलीय विधायकों की ओर से मुकुल रोहतगी ने यह मामला उठाया था। इससे पहले कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार से समर्थन वापस लेने वाले 2 विधायक KPJP के आर शंकर और निर्दलीय एच नागेश सुप्रीम कोर्ट पहुँचे थे। उनका कहना है कि बहुमत खो चुकी सरकार सदन में मतदान टालने में लगी है। लिहाजा कोर्ट तत्काल बहुमत परीक्षण का आदेश दे। कर्नाटक के पूर्व सीएम और भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा बीजेपी विधायकों के साथ विधानसभा पहुंचे गए हैं। आज विधानसभा में कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन सरकार फ्लोर टेस्ट का सामना करने वाली है। विश्वास मत पर वोटिंग से पहले कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार का कहना है कि जेडीएस सरकार बचाने के लिए किसी भी तरह के त्याग के लिए तैयार है। इतना ही नहीं एचडी कुमारस्वामी की पार्टी कांग्रेस की ओर से किसी को मुख्यमंत्री बनाने के लिए भी तैयार है। डीके शिवकुमार के मुताबिक, उन्होंने इसके बारे में हाईकमान को भी बता दिया है। एचडी कुमारस्वामी सरकार आज विधानसभा में फ्लोर टेस्ट का सामना करेगी। भाजपा विधायक विधानसभा भवन के लिए निकल चुके हैं। विधानसभा के लिए भाजपा विधायक रामदा होटल से रवाना हो चुके हैं।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment