वर्ल्ड चैंपियनशिप: आज 'गोल्डन गर्ल' बनने उतरेंगी 'सिल्वर' सिंधु- Loktantra Ki Buniyad

नई दिल्ली : ओलिंपिक्स, वर्ल्ड चैंपियनशिप, एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स। इन चार मेगा इवेंट में भारतीय स्टार शटलर पीवी सिंधु ने विमिंस सिंगल्स बैडमिंटन के फाइनल में जगह बनाई है, लेकिन एक बार भी वह अपनी झोली में गोल्ड डालने में कामयाब नहीं हो पाईं। फाइनल में जाकर चूकने वालीं सिंधु के पास आज अपने करियर का सबसे बड़ा खिताब जीतने का एक और मौका होगा, जब वह वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में कोर्ट पर उतरेंगी। जीत चुकी हैं चार मेडल सिंधु ने शनिवार को ऑल इंग्लैंड चैंपियन चेन यु फेइ पर सीधे गेम में मिली जीत से लगातार तीसरी बार वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश किया। सिंधु ने इस प्रतिष्ठित टूर्नमेंट के पिछले दो चरण में लगातार सिल्वर मेडल हासिल किए, इसके अलावा उनके नाम दो ब्रॉन्ज मेडल भी हैं। हैदराबादी खिलाड़ी ने 40 मिनट तक चले सेमीफाइनल में चीन की दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी चेन यु फेइ को 21-7, 21-14 से शिकस्त दी।अब सामना ओकुहारा से चौबीस साल की इस भारतीय खिलाड़ी को खिताब के लिए जापान की नाओमी ओकुहारा से भिड़ेगी। ओकुहारा ने थाइलैंड की 2013 की वर्ल्ड चैंपियन रतचानोक इंतानोन को 17-21, 21-18, 21-15 से सेमीफाइनल में शिकस्त दी। साल 2017 में इस टूर्नमेंट के फाइनल में सिंधु और ओकुहारा के बीच खिताबी टक्कर हो चुकी है। एक घंटे 50 मिनट तक चले उस मैराथन भिड़ंत में ओकुहारा ने बाजी मारी थी। चीनी खिलाड़ियों को हराकर खुश हूं: सिंधु शनिवार के सिंधु ने सेमीफाइनल चीन की चेन यू फेइ को सीधे गेम में मात देने के बाद कहा, 'मैं खुश हूं कि मैं चीन की खिलाड़ियों को हराने में कामयाब हो पा रही हूं। दरअसल, महिला एकल वर्ग में जो शीर्ष 15 खिलाड़ी हैं उनका स्तर एकसमान है। हर खिलाड़ी का अपना खेलने का तरीका होता है, खासकर चीनी खिलाड़ियों के खिलाफ हमें बहुत तैयारी के साथ जाना होता है।' 'सभी प्लेयर्स को एक-दूसरे का गेम पता है' सिंधु ने कहा, 'चेन यू फेइ आपको चकमा दे सकती हैं और उनके पास बेहतरीन स्ट्रोक्स भी हैं। वह शानदार फॉर्म में चल रही हैं, इसलिए मैं बहुत अच्छी तैयारी के साथ मुकाबले में उतरी थी। आजकल ऐसा हो गया कि हम हर टूर्नमेंट में एक-दूसरे का सामना कर रहे हैं, इसलिए हमें सभी का गेम पता है। आप एक स्पष्ट रणनीति के साथ कोर्ट पर नहीं उतर सकते, आपको मौके के मुताबिक रणनीति बनाकर खेलना होता है।' सिंधु बोलीं- फाइनल अभी बाकी है सिंधु ने कहा, 'मैं बहुत खुश हूं, लेकिन फाइनल अभी बाकी है। फाइनल मुकाबला आसान नहीं होगा, लेकिन मुझे अच्छी तैयारी करनी होगी। हर मैच में आपको मानसिक रूप से तैयार होकर उतरना होता है और मैं ऐसा ही करूंगी।'
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment