चंद्रयान-2: पूर्व इसरो चीफ बोले, बस 5% से चूके, 95% काम पूरा- Loktantra Ki Buniyad

नई दिल्ली :चंद्रयान 2 मिशन में लैंडर विक्रम से संपर्क टूटने पर हरदिल मायूस जरूर है। लेकिन इस मिशन को पूरी तरह विफल नहीं माना जा सकता। देखा जाए तो लैंडर से संपर्क टूटने से पहले ही भारत ने काफी कुछ हासिल कर लिया है। पूर्व इसरो चेयरमैन की मानें तो मिशन 95 प्रतिशत तक सफल माना जा सकता है क्योंकि ऑर्बिटर पहले ही अपनी सही जगह पहुंच गया है और ठीक काम कर रहा है।पूर्व इसरो चेयरमैन जी माधवन नायर ने शनिवार को इसपर बात की। उन्होंने कहा कि लैंडर के चांद पर लैंड ने होने के बावजूद चंद्रयान 2 ने अपने 95 प्रतिशत उद्देश्यों को पूरा कर लिया है। बता दें कि भारत का महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान शुक्रवार देर रात चांद से महज 2 किलोमीटर की दूरी पर आकर कहीं खो गया। चांद की सतह की ओर बढ़ा लैंडर विक्रम का चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर पहले संपर्क टूट गया। इससे ठीक पहले सबकुछ ठीकठाक चल रहा था। माधवन स्पेस डिपार्टमेंट में सचिव और स्पेस कमिशन में चेयरमैन भी रह चुके हैं। उन्होंने कहा कि चंद्रयान 2 का ऑर्बिटर बिल्कुल ठीक जगह है और लूनर ऑर्बिट में सही से अपना काम कर रहा है। माधवन बोले, 'मुझे लगता है कि हमें इतनी ज्यादा चिंता नहीं करनी चाहिए। मैं कहूंगा कि चंद्रयान को जो काम करने थे उनमें से 95 प्रतिशत काम करने में वह सफल हुआ है।' आगे उन्होंने ऑर्बिटर का जिक्र किया और कहा कि वह स्पेस में है और मैपिंग के अपने काम को बखूबी पूरा करेगा।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment