'सैम कुरैन को बाहर कर बेन स्टोक्स को चुनना सबसे मुश्किल फैसला रहा'- dropping-sam-curran-for-ben-stokes-was-the-hardest-decision-of-my-england-captaincy

नॉटिंघम: इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने कहा है कि भारत के खिलाफ आज (18 अगस्त) से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट मैच में बेन स्टोक्स को प्लेइंग इलेवन में शामिल करने का फैसला उनके कप्तानी करियर के सबसे मुश्किल फैसलों में से एक है. स्टोक्स दूसरे टेस्ट मैच में ब्रिस्टल मामले में सुनवाई कारण टीम से बाहर थे. इंग्लैंड ने ट्रेंट ब्रिज में खेले जाने वाले तीसरे मैच में स्टोक्स को प्लेइंग में जगह दी है. स्टोक्स को पहले 13 सदस्यीय टीम में शामिल नहीं किया गया था, लेकिन इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने कहा था कि स्टोक्स को टीम में जगह देने पर फैसला ब्रिस्टल मामले में सुनवाई के बाद लिया जाएगा. मामले की सुनवाई के तुरंत बाद ईसीबी ने इस हरफनमौला खिलाड़ी को टीम में शामिल कर लिया और मैच की पूर्व संध्या पर रूट ने उन्हें अंतिम-11 में चुनने का भी फैसला किया. बेन स्टोक्स के कारण पहले दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले सैम कुरैन को बाहर जाना पड़ा है. 'सैम को बाहर रखना सबसे कठिन फैसला था' इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने हरफनमौला बेन स्टोक्स का प्लेइंग इलेवन में स्वागत किया लेकिन कहा कि भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट में सैम कुरेन को बाहर रखना उनके लिए बहुत कठिन फैसला था. उन्होंने कहा, ''सैम बाहर हैं और बेन टीम में होंगे. यह फैसला कठिन इसलिए है क्योंकि सभी बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. सैम गेंदबाजी में इतना अच्छा प्रदर्शन कर रहा है. मैंने पहले ही कहा था कि भारत जैसी दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम के खिलाफ पांच टेस्ट की सीरीज जीतने के लिए हमें 11 से अधिक खिलाड़ी लगेंगे.''
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment