संसद में शपथ ग्रहण के बाद क्यों छुए थे स्पीकर के पैर? नुसरत जहां ने बताया- Loktantra Ki Buniyad

लोकसभा चुनाव 2019 में जीत के बाद से ही बंगाली एक्ट्रेस नुसरत जहां चर्चा में हैं. वे अपने पहनावे और संसद में अपने प्रोग्रेसिव नजरिए के चलते सुर्खियां बटोर रही हैं. साथ ही संसद में अपनी कई गतिविधियों को लेकर भी वे चर्चा में रही हैं. हाल ही में नुसरत ने आजतक की एंकर अंजना ओम कश्यप के साथ कई मुद्दों पर खास बातचीत की. नुसरत जहां ने संसद में अपनी शपथ ग्रहण के बाद जाकर स्पीकर के पैर छुए थे, जिसके बाद संसद में काफी नाटकीय माहौल बन गया था. इस बारे में बात करते हुए एक्ट्रेस और टीएमसी सांसद ने कहा कि 'मुझे पता भी नहीं था कि मुझसे पहले किसी ने ऐसा नहीं किया है. ये काफी नेचुरल था. वे मुझसे बड़े हैं, कुर्सी पर बैठे हैं और हमारे कल्चर में सिखाया गया है कि बड़ों का आदर करना चाहिए तो मैंने जाकर उनसे आशीर्वाद ले लिया था. मुझे नहीं लगता कि इसका कोई मुद्दा बनना चाहिए.'नुसरत ने ये भी कहा कि उन्होंने इस दौरान जो भी किया उसको लेकर बहुत सोचा समझा नहीं था और उनकी प्रतिक्रियाएं उसी हिसाब से थीं जैसा उन्हें उस समय फील हुआ था. इस पर अंजना ने उनसे पूछा कि क्या राजनीति में सोच समझकर ना चलने पर उन्हें दिक्कतों का सामना तो नहीं करना पड़ेगा? इसपर बात करते हुए नुसरत ने कहा कि 'मैं पॉलिटिक्स में अपने आपको बदलने नहीं आई हूं बल्कि लोगों की जिंदगी में पॉजिटिव बदलाव लाना चाहती हूं. मुझे सिनेमा में कई बार अपनी पहचान बदलने के लिए कहा गया था. मुझे ये भी कहा गया था कि मुझे बंगाली सिनेमा में टिके रहने के लिए अपना नाम बदलना चाहिए लेकिन इसके बावजूद मैंने कभी अपने आपको नहीं बदला क्योंकि मैं चाहती हूं कि मैं जैसी हूं लोग मुझे उसी तौर पर अपनाएं और मैं पॉलिटिक्स में भी अपनी इस पर्सनालिटी के साथ ही बदलाव लाना चाहती हूं.'
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment