इमरान ने परमाणु हमले की दी गीदड़भभकी, कहा- कश्मीर पर हर हद तक जाएंगे-Loktantra Ki Buniyad


पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को अपने राष्ट्र को संबोधित किया. अपने संबोधन में इमरान खान ने एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा. संबोधन की शुरुआत में इमरान खान ने कहा कि आज हम कश्मीर को लेकर आपसे बात करेंगे. उन्होंने कहा कि हम एक ऐसे मंच पर आ गए हैं जहां निर्णय लेने की जरूरत है कि कश्मीर पर क्या किया जाना चाहिए. इमरान खान ने भारत को कश्मीर मुद्दे पर न्यूक्लियर हमले की गीदड़भभकी देते हुए कहा हम कश्मीर के लिए हर हद तक जाएंगे.हमने कश्मीर मामले का अंतरराष्ट्रीयकरण किया है. इमरान ने कहा कि जब मेरी सरकार आई तो मेरी पहली कोशिश थी रोजगार बढ़ाया जाए. जलवायु परिवर्तन भारत और पाकिस्तान दोनों को प्रभावित करता है. इसलिए हम सभी पड़ोसियों के साथ दोस्ती करना चाहते थे. मैंने कहा था कि हिंदुस्तान एक कदम लेगा तो हम आपके तरफ दो कदम आएंगे. इमरान खान ने कहा कि मैंने भारत से कहा था कि कश्मीर मामले का हल बातचीत से निकले. लेकिन हमें मुद्दे मिलते रहे. जब भी हम कश्मीर पर बात करना चाहते थे, वे आतंकवाद पर बोलते रहे. इसके बाद भारत में चुनाव आए और हमने उनके पाकिस्तान विरोधी अभियानों को देखा. इमरान खान ने कहा कि हम कश्मीर मामले का अंतरराष्ट्रीयकरण करने में सफल रहे हैं. हमने विश्व के सभी प्रमुख देशों से इस संबंध में बातचीत की है. यूनाइटेड नेशन में 1965 के बाद पहली बार कश्मीर मामले पर चर्चा हुई. विदेशी मीडिया ने इस पर चर्चा की. इमरान खान ने कहा कि मैं यूएन के जनरल असेंबली में 27 सितंबर को कश्मीर मुद्दे पर चर्चा करूंगा. वैश्विक मंच पर कश्मी मामले को उठाऊंगा. इमरान खान ने कहा कि जब मेरी सरकार आई तो मैंने दोनों देशों के बीच शांति बनाए रखने की पहल ही. हम ऐसा देश बनाना चाहते थे जहां जॉब हो. यही चुनौती भारत में भी थी. जलवायु परिवर्तन भारत और पाकिस्तान दोनों को प्रभावित करते हैं. हम चाहते हैं कि हमारा संबंध हर पड़ोसी देश के साथ अच्छा हो. इमरान खान ने कहा कि हमने भारत से कहा था कि आप एक कदम चलो, हम दूसरा कदम उठाने के लिए तैयार हैं. कश्मीर विवाद द्विपक्षीय है, जिस पर बातचीत से ही मुद्दा सुलझाया जा सकता है. इमरान खान ने कहा कि जब भी हम कश्मीर पर भारत के साथ बातचीत करना चाहते हैं भारत आतंकवाद और अन्य मुद्दों पर ध्यान खींचता रहा है. इमरान खान ने कहा कि FATF जैसी संस्थाओं से ब्लैकलिस्ट कराने की कोशिश कर रहा है. 5 अगस्त को कश्मीर पर लिया गया फैसला जवाहर लाल नेहरू के कश्मीरियों के साथ किए गए वादे से मुकर जाना है. इमरान खान ने कहा कि कश्मीर पर नरेंद्र मोदी ने बड़ी गलती कर दी है. यह कश्मीरियों के लिए आजादी लेने का ऐतिहासिक अवसर है. इमरान खान ने गीदड़भभकी देते हुए कहा कि हम दोनों के पास परमाणु हथियार हैं, अगर यह मामला युद्ध तक जाता है, तो विश्व भी प्रभावित होगा. अगर हमारे बीच लड़ाई होती है, तो इसके लिए विश्व भी जिम्मेदार है.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment