डोनाल्ड ट्रंप के सामने PM मोदी की दो टूक, कोई तीसरा देश कश्मीर पर दखल का कष्ट न करे- Loktantra Ki Buniyad

फ्रांस के बिआरित्ज में जारी जी-7 शिखर सम्मेलन के इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई. इस बातचीत के दौरान दोनों नेता गर्मजोशी के साथ एक-दूसरे से मिले जहां उनकी बेहतर केमिस्ट्री भी नजर आई. प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रपति ट्रंप के सामने दो टूक शब्दों में कहा कि कश्मीर समेत भारत और पाकिस्तान के बीच सभी मुद्दे द्विपक्षीय हैं और इन मसलों में किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की जरूरत नहीं है. पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप ने मीडिया को संबोधित करते हुए दोनों देशों के रिश्तों से लेकर तमाम पहलुओं पर चर्चा की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और भारत-अमेरिका दोनों देश लोकतंत्र को लेकर आगे बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि दोनों देश मिलकर दुनिया की भलाई और प्रगति के लिए कैसे काम आ सकते हैं, ऐसे विषयों पर हम दोनों की लगातार बातचीत होती रहती है. पीएम मोदी ने कहा कि आर्थिक और व्यापारिक क्षेत्र में दोनों मुल्क लगातार बातचीत कर रहे हैं. राष्ट्रपति ट्रंप से मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कई विषयों पर हम अमेरिका के सुझावों का स्वागत करते हैं. उन्होंने कहा कि अमेरिका ने भारतीय समुदाय को अपने यहां जो सम्मान दिया है उसके लिए राष्ट्रपति ट्रंप का आभारी हूं. मोदी ने कहा कि जब भी मौका मिला हम दोनों नेता मिलते रहते हैं. पाकिस्तान के विषय पर ट्रंप के सामने पीएम मोदी ने कहा कि पाकिस्तान में चुनाव के बाद मैंने प्रधानमंत्री इमरान खान को फोन किया था. पीएम मोदी ने कहा कि मैंने उनसे कहा था कि भारत और पाकिस्तान को गरीबी, असुविधाओं, अशिक्षा और बीमारी के खिलाफ साथ मिलकर लड़ने की जरूरत है. पाकिस्तान के विषय पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने मोदी से मुलाकात के दौरान कहा कि दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों से मेरी बातचीत हुई है. उन्होंने कहा कि दोनों देश अपने मुद्दों को आपसी बातचीत से सुलझा लेंगे. पीएम मोदी ने भी कहा कि भारत और पाकिस्तान के सभी विषय द्विपक्षीय हैं और हम दोनों देश मिलकर इन्हें सुलझा लेंगे. पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों के विषयों में किसी तीसरे देश की मध्यस्थता की जरूरत नहीं है और हम किसी तीसरे देश को इसके लिए कष्ट नहीं देते हैं. भारत से कारोबारी रिश्ते मजबूत राष्ट्रपति ट्रंप से जब पूछा गया कि G-7 समिट में क्या हासिल हुआ तो इसके जवाब में ट्रंप ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री से मुलाकात इस समिट में हासिल हुआ. उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच कारोबारी रिश्ते काफी मजबूत हैं और यह बड़ी बात हैं. सम्मेलन के सभी सदस्य देशों के साथ अमेरिका के मजबूत रिश्ते हैं. साथ ही कई नए देश भी इसमें आए हैं जैसे भारत और ऑस्ट्रेलिया भी समिट में शामिल होने आए हैं.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment