शिवसेना की नाराजगी पर बोले अमित शाह, उद्धव ठाकरे से बात करूंगा, हल निकलेगा- Amit-shah-on-shiv-sena-resentment

मुंबई: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ज़ी तास 24 को दिए एक्सक्लूसिव साक्षात्कार में कहा वह शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मिलकर पार्टी की नाराजगी दूर करने की कोशिश करेंगे. शाह ने कहा कि वह 2019 का ही नहीं, 2024 का चुनाव भी शिवसेना के साथ मिलकर लड़ना चाहते हैं. शाह ने कहा कि शिवसेना हमारा मित्र पक्ष है. उन्होंने कहा कि उद्धव की नाराजगी बड़ा मुद्दा नहीं, जितना आपको लगता है. यह पूछे जाने पर कि क्या विचारों की अभिव्यक्ति में कोई कटौती हो रही है? इस पर शाह ने कहा, "देश में अभिव्यक्ति की आजादी बरकरार है. अभिव्यक्ति की आजादी देशविरोधी नहीं होनी चाहिए. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आपातकाल लगाने वाले हमें अभिव्यक्ति की आजादी पर सीख न दें." संघ के कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसमें लोगों को आपत्ति क्या है? जवाहर लाल नेहरू भी संघ के कार्यक्रम में गए थे, लाल बहादुर शास्त्री ने भी संघ के कार्यक्रम में शिरकत की थी. उपचुनाव पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस से ज्यादा बीजेपी को जीत मिली है. कांग्रेस राजनैतिक तौर पर सिकुड़ती जा रही है. कांग्रेस 16 राज्यों से पार्टी घटकर महज 2 राज्यों में सिमट गई है. विपक्षी एकता के सवाल पर उन्होंने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा. उन्होंने कहा, "विपक्ष की एकजुटता मतलब केवल राज्यों कें नेताओं का एक समूह है. मोदी को गरीबी हटानी है तो विपक्ष को मोदी को हटाना है." उन्होंने कहा कि एक मंच पर खड़े होकर हाथ मिलाने से मतदाता पर कोई असर नहीं पड़ेगा. 2014 में भी सभी दल एक थे. कई राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों पर उन्होंने कहा कि कोई भी सरकार ऐसी नहीं हो सकती जिसको लेकर नाराजगी ना हो, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इसका असर चुनावों पर पड़ता हो. मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बीजेपी फिर से सरकार बनाएगी. बीजेपी सरकार के खिलाफ कोई जनभावना नही है. कई राज्यों में अभी जो चुनाव होने वाले है, वहां हमारा संघटन मजबूत है. प्रधानमंत्री मोदी के कारण दुनियाभर में भारत को गौरव मिल रहा है. दुनियाभर में फैले भारतवंशियों की आज अलग पहचान मिली है. भारत के योग का डंका दुनिया में बज रहा है. विश्व पटल पर भारत को नई ऊंचाई पर पहुंचाने का काम मोदी जी ने किया है. 24 में से 18 घंटे काम करने वाला प्रधानमंत्री देश को पहली बार मिला है. 2019 में सत्ता में वापसी के सवाल पर शाह ने हमारी सरकार नें भ्रष्टचार के खिलाफ कई कदम उठाए. भारत की अर्थव्यवस्था बीजेपी के शासनकाल में मजबूत हुई. मोदी के नेतृत्व में हम 2019 में जीतेंगे. आगामी चुनावमें मोदी सरकार का बहुमत बढ़ेगा.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment