कई बार एक्सीडेंट के दौरान क्यों नहीं खुलते एयरबैग? जानिए कैसे आपकी गलती से जा सकती है जान ?

 


कार के सेफ्टी फीचर्स में सबसे जरूरी होते हैं एयरबैग. आजकल सभी कारों में ड्राइवर की सुरक्षा के लिए एयर बैग लगाया जाते हैं. हालांकि सेफ्टी फीचर्स में एयर बैग के अलावा भी दूसरे फीचर्स शामिल होते हैं, लेकिन एयरबैग को सबसे अहम सेफ्टी फीचर माना गया है. कार एक्सीडेंट के दौरान एयर बैग सबसे पहले एक्टिव होते हैं और ड्राइवर की जान बचाने का काम करते हैं. हालांकि कई बार एक्सीडेंट के दौरान एयर बैग नहीं खुलने की घटनाएं भी सामने आती हैं. दरअसल कई बार आरी लापरवाही से भी ऐसा हो सकता है. आज हम आपको इसकी वजह और कुछ ऐसी टिप्स बता रहे हैं जिससे आपकी कार में ये समस्या ना आए. आइये जानते है.

सर्विसिंग- कार को ठीक रखने के लिए जैसे कार की सर्विसिंग जरूरी है ठीक वैसे ही कार में लगे हुए एयरबैग को भी सर्विस करवाने की जरूरत पड़ती है. अगर आपने कार के एयर बैग का ठीक तरह से रख-रखाव नहीं किया तो ये खराब हो सकते हैं. आपकी इस लापरवाही से कई बार जरूरत पड़ने पर एयरबैग नहीं खुलते है. इससे आपकी जान को खतरा हो सकता है. इसलिए जरूरी है कि आप समय-समय पर कार के एयरबैग जरूर चेक करवाते रहें.

प्रोटेक्टिव ग्रिल- कई बार लोग अपनी कार को एक्सीडेंट से बचाने के लिए प्रोटेक्टिव ग्रिल लगावा लेते हैं. ये मेटल से बनी हुई हैवी प्रोटेक्टिव ग्रिल होती है जिसे कार के आगे वाले हिस्से में लगाया जाता है. किसी तरह का एक्सीडेंट होने पर इससे कार को डैमेज होने से बचाया जा सकता है. हालांकि इसकी वजह से कई बार एयरबैग नहीं खुलते हैं. दरअसल इस ग्रिल की वजह से कार का फ्रंट सेंसर ठीक से काम नहीं करता और एयरबैग जाम हो जाते है.

नकली एयर बैग- कई बार कार में एयरबैग नहीं होने पर बाहर से खरीदकर एयरबैग लगवाते हैं. ऐसे में कुछ लोग पैसों के चक्कर में सस्ते और नकली एयर बैग लगवा लेते है. ये एयरबैग लगवाते वक्त सही से काम करते हैं लेकिन बाद में कई बार धोखा दे जाते हैं. इसलिए हमेशा अच्छी क्वालिटी के एयर बैग ही लगवाने चाहिए.

एयर बैग डैमेज- कई बार हमें पता नहीं लगता और का में लगे एयर बैग डैमेज हो जाते हैं. ऐसे में जब कार का एक्सीडेंट होता है तो डैमेज होने की वजह से एयर बैग नहीं खुलते हैं. इस स्थिति में आपको जान भी जा सकती है. इसलिए जरूरी है कि आप समय-समय पर कार के एयर बैग चेक करवाते रहें.


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment