21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी दिन भारत पर स्वर्ण पदकों की बरसात - commonwealth games 2018 live india at cwg on 10 and last day

गोल्ड कोस्ट: गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी और 10वें दिन सुबह-सुबह भारत पर स्वर्ण पदकों की बरसात हुई है. मैरीकॉम और गौरव सोलंकी ने भारत को मुक्केबाजी में अपने-अपने वर्गों में स्वर्ण पदक दिलाए, तो संजीव राजपूत ने शूटिंग में सोने पर निशाना साथा. बता दें कि आज करीब दर्जन भर से भी ज्यादा पदक दांव पर लगे हुए हैं. और भारत बाकी खेलों में भी अच्छी खासी संख्या में पदक अपनी झोली में डाल सकता है. इससे अलावा मुक्केबाज में अमित पंघाल और मनीष कौशिक को अपने-अपने वर्ग में रजत पदक मिला.

वहीं बैडमिंटन में श्रीकांत किदांबी, सायना नेहवाल ने महिला वर्ग के सिंगल्स के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. कुल मिलाकर अब भारत के पदकों की संख्या 47 हो गई है. इसमें 20 स्वर्ण, 13 रजत और 14 कांस्य पदक शामिल हैं.

मुक्केबाजी: मैरी कॉम ने शनिवार को महिला मुक्केबाजी की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग के स्पर्धा का स्वर्ण अपने नाम कर लिया है. इस दिग्गज मुक्केबाज ने फाइनल में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओ हारा को 5-0 से मात देकर पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक हासिल किया.

वहीं, पुरुष वर्ग में गौरव सोलंकी ने शनिवार को मुक्केबाजी में दूसरा स्वर्ण पदक दिलाया है गौरव ने पुरुषों की 52 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के ब्रेंडन इरवाइन को 4-1 से मात देते हुए सोने का तमगा हासिल किया, तो मनीष कौशिक 60 किग्रा भार वर्ग में हार गए और उन्हें रजत से संतोष करना पड़ा. इस वर्ग में एक और अन्य मुक्केबाज भारत के मुक्केबाज अमित पंघाल 46-49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में हार कर रजत पदक से संतोष करना पड़ा है.अमित को इंग्लैंड के गलाल याफाई को 3-1 से मात देते हुए उनके स्वर्ण के सपने को तोड़ दिया


शूटिंग: सजींव राजपूत ने पुरुषों की 50 मी. राइफल थ्री पोजीशन में सटीक निशाना साधते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा किया. संजीव ने बेलमोंट शूटिंग सेंटर पर कुल 454.5 का स्कोर करते हुए गेम रिकार्ड के साथ स्वर्ण पर कब्जा जमाया. इसी स्पर्धा में भारत के चैन सिंह को पांचवां स्थान मिला.



बैडमिंटन: भारत की दिग्गज महिला बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने  कैरारा स्पोर्ट्स एरेना पर खेले गए मैच में स्कॉटलैंड की कस्र्टी गिल्मर को कड़े मुकाबले में 21-14, 18-21, 21-17 से मात देकर सिंगल्स वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया. 

आखिरी दिन भारतीय खिलाड़ियों ने इन खेलों में साल 2014 के मैनचेस्टर में मिले स्वर्ण पदकों को तो बहुत पीछे छोड़ दिया है. अब देखने वाली बात यह होगी कि कुल पदकों की संख्या के मामले खिलाड़ी मैनचेस्टर के आस-पास पहुंच पाते हैं या नहीं.

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment