उत्तराखंड के 5 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, मध्य प्रदेश में खोले गए बांध के गेट- Loktantra Ki Buniyad

देश के कई हिस्सों में मॉनसूनी बारिश और बाढ़ का कहर जारी है। उत्तराखंड के 5 जिलों में अगले 12 घंटे में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। वहीं मध्य प्रदेश में भी मूसलाधार बारिश से जलस्तर बढ़ने की वजह से माताटीला बांध के 20 गेट खोले गए हैं और 3 लाख क्यूसेक पानी को छोड़ा गया है। पाकिस्तान द्वारा पानी छोड़ने के बाद पंजाब के सीमांत जिले फिरोजपुर में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। हिमाचल के चंबा जिले में हड़सर से भरमौर को जोड़ने वाला पुल बहने से मणिमहेश यात्रा अस्थायी रूप से निलंबित हो गई है। उत्तराखंड: अगले 12 घंटों में हो सकती है भारी बारिश उत्तराखंड में पिछले दिनों बाढ़ और बारिश से तबाही के बाद एक बार फिर भारी बारिश की आशंका है। मौसम विभाग के अनुसार, देहरादून, रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़ और बागेश्वर में सोमवार को भारी बारिश हो सकती है। यहां येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने इन जिलों में अगले 12 घंटे के भीतर भारी बारिश के साथ कुछ इलाकों में बादल फटने की भी आशंका के जताई है। उत्तराखंड में आपदा से अब तक 59 लोगों की मौत हो चुकी है। रविवार को यहां चमौली और रुद्रप्रयाग में रविवार सुबह बारिश होने की वजह से बदरीनाथ और केदारनाथ हाइवे में तगड़ा जाम लग गया। यहां बड़े वाहनों की आवाजाही रोक दी गई। पहाड़ों से लगातार पत्थर गिर रहे हैं। मध्य प्रदेश: बांध के 20 गेट खोले गए, 24 घंटे में भारी बारिश की आशंका मध्य प्रदेश में हो रही लगातार बारिश से राजघाट और माताटीला बांध में जलस्तर बढ़ गया है। रविवर सुबह माताटीला बांध के 20 गेट खोलकर शाम तक 3 लाख क्यूसेक पानी बेतवा नदी में छोड़ा गया है। शनिवार को विदिशा के सिरोंज इलाके में एक घर ढहने से एक शख्स की दबकर मौत हो गई थी। जबकि एक घायल हो गया। घायल को रस्सी और खाट का इस्तेमाल करके नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाके में भारी बारिश से बाढ़ के हालात हैं। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित राज्य के अन्य हिस्सों में रविवार से घने बादल छाए हुए हैं। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में कई हिस्सों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी और तटीय ओडिशा में कम दवाब का क्षेत्र बनने के कारण राज्य में बारिश का दौर जारी है। वहीं कम दवाब के क्षेत्र का असर राज्य के पश्चिमी और उत्तर-पश्चिमी हिस्से में बढ़ने की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग के अनुसार, अगले 24 घंटों में भोपाल, श्योपुर कलां, शिवपुरी, अशोकनगर, गुना, रायसेन, खंडवा, बैतूल, होशंगाबाद, उज्जैन, रतलाम, खरगोन में भारी बारिश की चेतावनी है। पंजाब: पाकिस्तान ने छोड़ा पानी, फिरोजपुर में बाढ़ की स्थिति पंजाब में अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान ने बड़ी मात्रा में पानी छोड़ा है जिससे तेंदिवाला गांव में तटबंध एक हिस्सा टूट गया है और पाक सीमा से सटे जिले के कुछ गांवों में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है। मुख्यमंत्री ने रविवार को जल संसाधन विभाग को फिरोजपुर के तेंदीवाला गांव में तटबंध को मजबूत करने के लिए सेना के अधिकारियों के साथ एक संयुक्त कार्य योजना बनाने को कहा है। एक सरकारी प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि फिरोजपुर जिला प्रशासन हाई अलर्ट पर है तथा एहतियात के तौर पर राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और सेना की टीम तैनात की गई है। फिरोजपुर के उपायुक्त के अनुसार मखु और हुसैनीवाला इलाके में बाढ़ प्रभावित 15 गांवों में 500 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है और लगभग 630 लोगों को आावश्यक चिकित्सा सहायता प्रदान की गयी है। इसके अतिरिक्त लगभग 950 खाद्य पैकेट लोगों के बीच वितरित किए गए हैं और पशुओं के चारे की आपूर्ति के लिए पर्याप्त इंतजाम किया गया है। पंजाब में दिल्ली से आएगी टीम बाढ़ग्रस्त पंजाब में नुकसान का आकलन करने के लिए एक केंद्रीय टीम जल्द ही राज्य का दौरा करेगी। राज्य के कुछ हिस्सों में रविवार को भी जमकर बारिश हुई। इस बीच, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सभी मंत्रियों और उपायुक्तों को सतर्कता बढ़ाते हुए राहत कार्यों की देखरेख का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक उच्च स्तरीय बैठक में फिरोजपुर, जालंधर, कपूरथला और रूपनगर जिलों में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की। इससे पहले दिन में मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘लगातार हो रही बारिश के मद्देनजर सभी मंत्रियों और उपायुक्तों को सतर्कता बरतने तथा राहत कार्यों की देखरेख करने का निर्देश दिया है।’ मुख्यमंत्री ने चार मंत्रियों - चरनजीत सिंह चन्नी, सुंदर श्याम अरोड़ा, गुरप्रीत सिंह कांगर औ भारत भूषण आशु- को जालंधर कपूरथला और रूपनगर जिलों में आयी बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में राहत अभियान की देख रेख करने के लिए कहा है। राजस्थान के कई हिस्सों में बारिश राजस्थान में पिछले 24 घंटों के दौरान पूर्वी हिस्सों के एक दो स्थानों पर भारी बारिश और कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान कोटा के कंवास में 7 सेंटीमीटर, झालावाड के खानपुर में 7 सेंटीमीटर, असनावर में 6 सेंटीमीटर, कोटा के सांगोंद में 5 सेंटीमीटर, बारां में 5 सेंटीमीटर, अटरू में 4 सेंटीमीटर, डूंगरपुर में 4 सेंटीमीटर और अन्य कई स्थानों पर 3 सेंटीमीटर से 2 सेंटीमीटर तक बारिश दर्ज की गई। रविवार सुबह से शाम तक कोटा में 10.8 मिलीमीटर, जयपुर में .8 मिलीमीटर और श्रीगंगानगर में 0.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। राजधानी जयपुर में दोपहर बाद करीब 15 मिनट तक कई स्थानों पर बारिश हुई। इससे कई जगहों पर पानी भर गया। विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान बांसवाडा, बारां, भीलवाडा, बूंदी, चित्तौडगढ, राजसमंद, सवाईमाधोपुर और सिरोही में मूसलाधार बारिश होने की चेतावनी जारी की है। वहीं पूर्वी राजस्थान के कई स्थानों पर और पश्चिमी राजस्थान के एक- दो स्थानों पर हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना जताई है। हिमाचल में 31 अगस्त तक भारी बारिश की चेतावनी हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में शनिवार को हल्की से मध्यम गति की बारिश हुई। 31 अगस्त तक यहां और अधिक बारिश की संभावना है। शिमला, डलहौजी और मनाली में शनिवार को बारिश हुई। उना में सर्वाधिक तापमान 32.8 डिग्री दर्ज किया गया जबकि लाहौल-स्पीति के प्रशासनिक केंद्र केलॉन्ग में 11.8 डिग्री तापमान दर्ज हुआ। पुल बहा, मणिमहेश यात्रा निलंबित हिमाचल प्रदेश के शिमला में भारी बारिश और पत्थर गिरने की वजह से सोमवार सुबह बाधल गांव के नजदीक नैशनल हाइवे 5 ब्लॉक हो गया। इससे यात्रियों को काफी असुविधा हो रही है। वहीं चंबा जिले में भी भारी बारिश की वजह से हड़सर से भरमौर को जोड़ने वाला पुल बहने से मणिमहेश यात्रा अस्थायी रूप से निलंबित हो गई है। उत्तर प्रदेश में रविवार को झमाझम बारिश उत्तर प्रदेश के लखनऊ और आस-पास के इलाकों में शनिवार और रविवार को भारी बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार, वाराणसी में 6.2 मिमी, झांसी में 1.4 मिमी, मेरठ में 5.2 मिमी, बलिया में 5.4 मिमी, हरदोई में 16.8 मिमी, शाहजहांपुर में 24.8 मिमी, उरई में 39 मिमी, अलीगढ़ में 3.7 मिमी और मुजफ्फरनगर में 46.4 मिमी बारिश दर्ज की गई।
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment