20 लाख रुपये में मान गए पीड़ित लड़की के मां बाप - gangrape afflicted daughter deal with rapist daughter allegation on parents

नई दिल्ली: दिल्ली के अमन विहार इलाके में माता-पिता ने गैंगरेप पीड़ित नाबालिग बच्ची की अस्मत का सौदा आरोपियों के साथ बीस लाख रुपये में तय कर लिया था. उन्होंने पेशगी के तौर पर आरोपियों से पांच लाख रुपये लेकर बेटी पर कोर्ट में बयान बदलने का दबाव बनाना शुरू कर दिया. लेकिन पीड़ित जब इसके लिए तैयार नहीं हुई तो उसके साथ मारपीट की. लेकिन पीड़ित की यह दिलेरी थी कि वह 5 लाख रुपये लेकर प्रेम नगर पुलिस चौकी पहुंच गई और पूरी आपबीती पुलिस को बताई. अपने मां-बाप के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज करवाया. पुलिस ने पीड़ित लड़की की मां को गिरफ्तार कर लिया है.



पीड़ित नाबालिग के मुताबिक, उसके साथ एक साल पहले गैंगरेप करने वाले आरोपियों में एक सुनील शाही अभी जेल से बाहर है. पीड़ि‍त ने कहा, 'उसने मेरे मां-बाप को 20 लाख रुपये देने को कहा और मेरे माता-पिता मान गए. उससे पैसे लेने को राजी हो गए. मेरे मना करने पर मेरे साथ ही मेरे माता-पिता ने मारपीट की. जान से मारने की धमकी दी मुझे. 8 अप्रैल को शाम 5 बजे सुनील शाही अपनी कार से मेरे पास आया बोला कि अगर तुमने अपने माता-पिता के कहने पर बयान नहीं बदले तो तुमसे गलत काम करवाउंगा, गायब करवा दूंगा.’


पीड़ित ने बताया कि 9 अप्रैल को मेरे घर रात में संतोष परिहार और रमन आए, मेरे माता-पिता को 5 लाख रुपये दिए. सुबह जब मेरे माता-पिता कोर्ट चले गए तो जो पैसा मेरे घर सुनील साही ने पहुंचाया था वो 5 लाख लेकर मैं पुलिस स्टेशन पहुंच गई. मेरी अपील है कि मेरे माता-पिता के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. पुलिस ने उन रुपयों को जब्त कर लिया और जांच पड़ताल के बाद पीड़ित के माता-पिता समेत पांच आरोपितों के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने, धमकी देने, प्रलोभन देकर कोर्ट में गलत गवाही देने व नाबालिग के साथ क्रूरता करने के जेजे एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया. पीड़ित की मां को बीते रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया है.

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment