दक्षिण और पूर्वी चीन सागर में चीन के उकसावे जारी हैं : सीआईए के निदेशक माइक पोम्पेओ - china continues its provocations in south east china seas cia director mike pompeo

वॉशिंगटन: सीआईए के निदेशक माइक पोम्पेओ ने रूस को अमेरिका के लिए ‘खतरा ’ बताते हुए कहा कि दक्षिण और पूर्वी चीन सागर में चीन के उकसावे जारी हैं और राजनयिक, सैन्य तथा आर्थिक मोर्चे पर अमेरिका के साथ बराबरी करने के लिए सुनियोजित प्रयास कर रहा है. विदेश मंत्री पद के उम्मीदवार पोम्पेओ ने जोर देकर कहा कि चीन से संबंधित नीति बनाने और उसका पालन करने के केंद्र में विदेश विभाग को होना चाहिए. उन्होंने कहा कि रूस , ईरान और उत्तर कोरिया समेत विदेश नीति से जुड़े कुछ मुद्दों पर सख्त रुख अपनाने की जरूरत है.

पोम्पेओ ने कहा, ‘‘हमारे राजनयिक संबंधों में अमेरिका ने अपनी मजबूत स्थिति को हालांकि पुन : स्थापित किया है, लेकिन चीन राजनयिक, सैन्य और आर्थिक मोर्चे पर अमेरिका से प्रतिस्पर्धा करने के लिए अपने संगठित और सुनियोजित प्रयासों को जारी रखे हुए है.’’

पोम्पेओ ने कहा, ‘‘वर्षों से चीन आईपी चोरी और प्रतिरोधी प्रौद्योगिकी स्थानांतरण के रास्ते अमेरिका की कमजोर व्यापार नीति का इस्तेमाल करता रहा है और उसने हमारी अर्थव्यवस्था से धन और गोपनीय जानकारियां प्राप्त की हैं. सैन्य मोर्चे पर वह दक्षिण और पूर्वी चीन सागर, साइबरस्पेस और यहां तक कि अंतरिक्ष में भी उकसावे जारी रखे हुए है.’’

चीनी विमान वाहक पोत ने ताइवान क्षेत्र में ऐसे समय में घुसपैठ की है, जब एक दिन पहले ही चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने नेशनल पीपुल्स कांग्रेस के समापन सत्र में अपने भाषण के दौरान द्वीप की स्वतंत्रता को लेकर कड़ा रुख अख्तियार किया था.


इससे पहले ताइवान के रक्षा मंत्री ने बीते 21 मार्च को कहा था कि चीनी विमान वाहक पोत लियाओनिंग ने देश के हवाई रक्षा पहचान क्षेत्र में घुसपैठ की. इससे एक दिन पहले 20 मार्च को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने 'इतिहास की सजा' के साथ ताइवान को धमकाया था. रक्षामंत्री येन तेह-फा ने संसद को बताया कि चीनी विमान वाहक पोत ने ताइवान के जलडमरूमध्य (स्ट्रेट) में घुसपैठ की थी, लेकिन साथ ही कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है और राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा की जाएगी. ताइवान न्यूज की रपट के अनुसार, मंत्री ने कहा कि सेना चीनी सैन्य अभ्यास पर करीब से नजर रखे हुए है. लियाओनिंग रविवार (18 मार्च) और सोमवार (19 मार्च) को दक्षिण चीन सागर में सैन्य अभ्यास में भाग लेने के बाद ताइवान के हवाई रक्षा क्षेत्र में प्रवेश कर गया था.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment